पैतृक गाँव तोलावाल में बड़ी संख्या में राजनैतिक, फ़ौजी, प्रशासनिक, सामाजिक हस्तियों ने दी अंतिम विदायगी
पंजाब से सम्बन्धित शहीदों के नाम पर सम्बन्धित गाँव के स्कूल का किया जायेगा नामकरण - विजय इंदर सिंगला

चंडीगढ़/तोलावाल /संगरूर, 19 जून:
पिछले दिनों भारत -चीन सरहद पर स्थित गलवान घाटी में चीन की फौजों के साथ मुठभेड़ में अन्य भारतीय फौजियों समेत शहादत का जाम पीने वाले जांबाज सिपाही गुरबिन्दर सिंह के पार्थिक शरीर जैसे ही फ़ौजी और सरकारी सम्मानों के साथ उनके पैतृक गाँव तोलावाल में पहुँचा तो सारा माहौल गमगीन हो गया।

शहीद सिपाही गुरबिन्दर सिंह के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार पूरे धार्मिक रिवाजों के मुताबिक फ़ौजी और सरकारी सम्मानों से किया गया। इस मौके पर देशभगती के रंग में रंगे गाँव तोलावाल के शमशानघाट में माहौल उस समय पर भावुकता से भर गया जब भारतीय फ़ौज के इस शहीद की चिता को उनके पिता स. लाभ सिंह द्वसा मुखाग्नि दी गई। हर एक की आँख नम थी और देश के इस योद्धे को अंतिम विदाई देने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुँचे हुए थे।

शहीद गुरबिन्दर सिंह के अंतिम संस्कार के मौके पर भारतीय फ़ौज के बिगलर ने शौक धुन बजाई और जवानों ने हथियार उल्टे करके गार्ड ऑफ ऑनर देते हुये फायर करके शहीद को सलामी दी। फ़ौजी अधिकारियों ने भावुकता भरे माहौल में शहीद के पार्थिव शरीर के ताबूत के आसपास लिपटा तिरंगा झंडा शहीद के पारिवारिक सदस्यों को सौंपकर सलामी दी।
इससे पहले शहीद के पार्थिव शरीर पर पंजाब के राज्यपाल श्री वी.पी सिंह बदनौर की तरफ़ से डिप्टी कमिश्नर श्री रामवीर, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ़ से कैबिनेट मंत्री विजय इंदर सिंगला, पूर्व एम.पी श्री अविनाश राय खन्ना, सीनियर कांग्रेसी नेता श्रीमती थिंद बाजवा और श्री हरमन देव बाजवा, चेयरमैन जि़ला योजना बोर्ड रजिन्दर सिंह राजा, एस.एस.पी डा. सन्दीप गर्ग समेत अन्य ने श्रद्धा के फूल भेंट किये। इसके अलावा भारतीय सेना और प्रशासन के विभिन्न अधिकारियों ने भी पुष्पांजलि अर्पित की। विभिन्न शख्सियतों ने शहीद के पिता स. लाभ सिंह, माता श्रीमती चरनजीत कौर, बहन और भाई से दुख का प्रगटावा किया और शहीद के बलिदान को देश के लिए बड़ा और अहम करार दिया।
कैबिनेट मंत्री श्री सिंगला ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ़ से शहीद के पारिवारिक सदस्यों के साथ दुख सांझा करते हुये कहा कि इस दुख की घड़ी में पंजाब सरकार शहीद के परिवार के साथ खड़ा है। उन्होंने अरदास की कि परमात्मा शहीद गुरबिन्दर सिंह को अपने चरणों में स्थान दें और पीछे रह गये परिवार को ईश्वरीय आदेश मानने का हौंसला प्रदान करें। इस दौरान शहीद के पारिवारिक सदस्यों समेत इलाके के निवासी और अन्य आदरणिय भी हज़ारों की संख्या में उपस्थित थे।

शहीद गुरबिन्दर सिंह के नाम पर तबदील किया जायेगागाँव के सरकारी स्कूल का नाम 

पंजाब के शिक्षा मंत्री श्री विजय इंदर सिंगला ने आज गाँव तोलावाल में शहीद सिपाही गुरबिन्दर सिंह को श्रद्धा के फूल भेंट करने के बाद ऐलान किया कि पंजाब सरकार की तरफ से शहीद की याद को शाश्वत बनाने के लिए गाँव के सरकारी स्कूल का नाम शहीद गुरबिन्दर सिंह के नाम पर तबदील किया जायेगा जिस सम्बन्धी नोटिफिकेशन भी जारी किया जा रहा है। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार की तरफ से बाकी तीन शहीदों के सम्मान में भी उनके गाँवों के सरकारी स्कूलों के नाम भी शहीदों के नाम पर रखे जाएंगे।
उन्होंने कहा कि शहीद राष्ट्र का सरमाया होते हैं और शहीदों की महान बलिदानों को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता। श्री सिंगला ने यह ऐलान भी किया कि गाँव के खेल स्टेडियम का नामकरण भी शहीद के नाम पर किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इतनी छोटी उम्र में शहादत पाने वाले इस जांबाज योद्धा का बलिदान अपने आप में बड़ी मिसाल है कि देश की आन और शान को कायम रखने के लिए हमारे शूरवीर अपनी जानें तक न्यौछावर कर देते हैं जिस पर पूरे देश वासियों को मान होना चाहिए।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.