Type Here to Get Search Results !

मुख्यमंत्री द्वारा यूनिवर्सिटी /कालेजों की परीक्षाएं रद्द

पी.सी.एस. बनने के इच्छुक पूर्व सैनिकों के लिए अन्य वर्गों की तरह इम्तिहान की कोशिशों में विस्तार किया

चंडीगढ़, 4 जुलाई:
पंजाब के मुख्यमंत्री ने शनिवार को राज्य में कोविड महामारी के चलते यूनिवर्सिटी और कालेजों की परीक्षाएं रद्द करने का ऐलान किया परन्तु कुछ यूनिवर्सिटियों की तरफ से ऑनलाइन ली जा रही परीक्षाएं बेरोक जारी रहेंगी।
अपने साप्ताहिक ‘कैप्टन को सवाल’ फेसबुकलाइव सैशन के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि यूनिवर्सिटी और कालेजों के विद्यार्थी पिछले साल के नतीजों के आधार पर परमोट कर दिए जाएंगे। हालाँकि जो विद्यार्थी अपने प्रदर्शन को और सुधारना चाहते हैं, उनको बाद में नये इम्तिहानों के द्वारा मौका दिया जायेगा जब कोविड संकट दूर हो जायेगा। उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटियाँ और कालेजों की तरफ से इस फ़ैसले को लागू करने के तरीकों पर काम किया जा रहा है जिस कारण इस संबंधी विस्तार में फ़ैसले का ऐलान अगामी कुछ दिनों में किया जायेगा।
स्कूल बोर्ड परीक्षाओं संबंधी मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य कुछ दिन पहले सुप्रीम कोर्ट में सी.बी.एस.ई. के ऐलाने फ़ैसले को लागू करेगा।
इसके साथ ही कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सभी विद्यार्थियों से अपील की कि वह अपनी परीक्षाएं रद्द होने के बावजूद अपनी पढ़ाई ज़रूर जारी रखें। उन्होंने विद्यार्थियों को कहा, ‘आप अपने सुनहरी भविष्य के लिए अपनी पढ़ाई जारी रखें।’
इसी दौरान पूर्व सैनिकों के लिए किये बड़े फ़ैसले का ऐलान करते हुये कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि पूर्व सैनिक उम्मीदवारों के लिए पी.सी.एस. परीक्षाएं देने के लिए कोशिशों में विस्तार कर दिया गया है। मौजूदा व्यवस्था के अनुसार आम श्रेणियों में से एस.सी.उम्मीदवारों को मिलते असीमत मौके जारी रहेंगे। इसके साथ ही जनरल केटेगरी के पूर्व सैनिकों को ओवर आल जनरल केटेगरी की तरह छह मौके मिलेंगे जबकि इससे पहले उनको चार मौके मिलते थे। बी.सी. केटेगरी के पूर्व सैनिकों की कोशिशों भी बढ़ा कर 9 कर दिया गया हैं। उन्होंने कहा कि पी.सी.एस बनने के इच्छुक पूर्व सैनिकों की तरफ से उनके पास कई विनतियाँ पेशे की गई थीं कि आम जनरल वर्ग जितने मौके उनको भी दिए जाएँ।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.