- केबिनेट मंत्री अरोड़ा ने करीब 50 लाख रुपए की लागत से 38 जरूरतमन्द महिलाओं को सौंपे मुफ्त ई-रिक्शा 
- कहा, महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने में सहायक साबित होगा घर-घर रोजगार मिशन के अंतर्गत समर्थ महिला, विकास समाज प्रोग्राम 
- महिला सशक्तिकरण को एक नई दिशा और ऊर्जा प्रदान करेगा ई-रिक्शा प्रोजैक्ट - डिप्टी कमिश्नर

चंडीगढ़/होशियारपुर, 11 जुलाईः
पंजाब सरकार के घर-घर रोजगार मिशन के अंतर्गत महिलाओं को
आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार की तरफ से लगातार यत्न जारी हैं और इसी यत्न के अंतर्गत जरूरतमन्द महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए होशियारपुर में ई-रिक्शा दिए जा रहे हैं। यह विचार उद्योग और वाणिज्य मंत्री, पंजाब श्री सुन्दर शाम अरोड़ा ने आज रौशन ग्राउंड होशियारपुर में करीब 50 लाख रुपए की लागत से 38 महिलाओं को मुफ्त ई-रिक्शा सौंपते हुए प्रकट किये। इस दौरान उनके साथ डिप्टी कमिश्नर श्रीमती अपनीत रियात भी मौजूद थे।
कैबिनेट मंत्री ने कहा कि दिव्यांग, तलाकशुदा, विधवा और अन्य जरूरतमन्द महिलाओं को ई-रिक्शा प्रदान करने के लिए कोका कोला सी.एस.आर. फंड के अंतर्गत यह बेहतरीन पहल की गई है, जिसमें जिला प्रशासन की तरफ से बाखूबी अपनी जिम्मेदारी को निभाया गया है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के फैलाव से पहले ही प्रशासन की तरफ से समर्थ महिला, विकसित समाज प्रोग्राम के द्वारा महिलाओं के चयन के लिए इंटरव्यू ले लिया गया था और चुनी र्गइं महिलाओं को मुफ्त प्रशिक्षण मुहैया करवाने के बाद लाइसेंस भी बनवाया जा चुका है।
श्री सुन्दर शाम अरोड़ा ने कहा कि ई-रिक्शा के लिए चार्जिंग पुआइंट फायर ब्रिगेड के साथ बनाई गई पार्क में स्थापित किया गया है, इसके अलावा ई-रिक्शा के लिए पार्किंग पुआइंट जी.एम. रोडवेज दफ्तर के बाहर बनाया गया है। इस दौरान उन्होंने उक्त सभी महिलाओं से बातचीत की और उनकी सराहना करते हुए कहा कि उनकी तरफ से गई यह शानदार पहल अन्य महिलाओं के लिए भी मिसाल बनेगी। उन्होंने कहा कि इन सभी ई-रिक्शों को एक ऐप के द्वारा जोड़ा जायेगा, जिससे इनकी लोकेशन के बारे में पता चलता रहे और महिला पुलिस अधिकारी को इस सम्बन्धी जिम्मेदारी सौंपी जायेगी, जिससे इन सभी महिलाओं की सुरक्षा को यकीनी बनाया जा सके।
डिप्टी कमिश्नर श्रीमती अपनीत रियात ने कहा कि जरूरतमन्द महिलाओं को सौंपे गए ई-रिक्शा से उनके हौसले के साथ-साथ उनकी आर्थिकता को भी उत्साह मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस प्रोजैक्ट के अंतर्गत महिला सशक्तिकरण को एक नयी दिशा और ऊर्जा मिली है। उन्होंने कहा कि जिला रोजगार और कारोबार ब्यूरो के द्वारा इस पूरे प्रोजैक्ट को सफलतापूर्वक संपन्न किया गया है। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि प्रसाशन की तरफ से जरूरतमन्द महिलाओं को पैरों पर खड़ा करने के लिए प्रोग्राम चलाया जा रहा है। उन्होंने सभी लाभार्थी महिलाओं को विश्वास दिलाया कि प्रशासन की तरफ से उनकी सुरक्षा को लेकर पुख्ता प्रबंध किये जाएंगे और उनको कोई समस्या नहीं आने दी जायेगी।
इस मौके पर पंजाब स्टेट इंडस्ट्रियल डिवैल्पमैंट कार्पोरेशन के वाइस चेयरमैन-कम-डायरैक्टर श्री ब्रह्मशंकर जिम्पा, एस.पी. श्री परमजीत सिंह, सहायक कमिश्नर जी.एस.टी. श्रीमती जतिन्दर कौर, जिला खाद्य एवं स्पलाई कंट्रोलर श्रीमती रजनीश कौर, जिला रोजगार उत्पत्ति और प्रशिक्षण अफसर श्री करम चंद, प्लेसमेंट अफसर श्री मंगेश सूद, करियर काऊंसलर श्री अदित्य राणा, श्री सुरिन्दर पाल सिद्धू, श्री दीपक पुरी, श्री गुलशन राय, गैविन कपूर, श्री रवि कुमार और अन्य आदरणीय भी उपस्थित थे।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.