चंडीगढ़ 6 नवंबर: 

पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने आज दो सिपाहियों सर्बजीत सिंह और इकबाल सिंह के अलावा दो आम व्यक्तियों जसप्रीत सिंह और सिमरनजीत सिंह के खि़लाफ़ रिश्वत का मामला दर्ज किया है जो एक बस आपरेटर से पुलिस केस दर्ज करने की धमकी देकर रिश्वत ले रहे थे। इस केस में मोगा की विजीलैंस टीम ने एक सिपाही इकबाल सिंह और एक आम दोषी सिमरनजीत सिंह को 15,000 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों काबू कर लिया।इस सम्बन्धी जानकारी देते पंजाब विजीलैंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि उक्त दोनों दोषियों को मोगा जिले के गाँव हरीएवाला के निवासी गगनदीप सिंह की शिकायत पर गिरफ़्तार किया गया है। शिकायतकर्ता ने ब्यूरो को बताया है कि वह एक मिनी बस आपरेटर है और उक्त दोषी पुलिस मुलाजि़म उसे नशीले पदार्थ रखने का डरावा देकर पुलिस केस न दर्ज करने के लिए 1 लाख रुपए की माँग कर रहे थे और सौदा 50 हज़ार रुपए में तय हुआ।शिकायतकर्ता की तरफ से दी गई जानकारी की पुष्टि के बाद विजीलैंस टीम ने दोषी सिपाही इकबाल सिंह और उसके साथी सिमरनजीत सिंह को दो सरकारी गवाहों की हाजिऱी में शिकायतकर्ता के पास से 15,000 रुपए की रिश्वत लेते मौके पर काबू किया।उन्होंने बताया कि उक्त चारों दोषियों के खि़लाफ़ विजीलैंस ब्यूरो के थाना फिऱोज़पुर में भ्रष्टाचार रोकथाम एक्ट की विभिन्न धाराओं के अंतर्गत रिश्वत का केस दर्ज किया गया है और अगली जांच जारी है।

Tags

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.