आयात किये गए के बैलों से राज्य में दूध उत्पादन बढ़ेगा और दुधारू पशूओं की नस्ल में होगा सुधार

चंडीगढ़, 27 दिसंबर

जर्मनी से उत्तम नस्ल के मंगवाए होलस्टीन फ्राईसियन नस्ल के बैलों में से पंजाब को 4 बैल मिले हैं। पंजाब के पशु पालन और डेयरी विकास मंत्री श्री तृप्त राजिन्दर सिंह बाजवा ने इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रीय गोकुल मिशन के अंतर्गत राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड ने देश में क्रॉसब्रीड गाएँ के जर्म प्लाज़्मा में सुधार के लिए जर्मनी से यह उत्तम नस्ल के बैल मंगवाए हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब को मुहैया करवाए गए उत्तम नस्ल के इन बैलों से राज्य में न सिफऱ् दूध उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा, बल्कि राज्य में दुधारू पशूओं की नस्ल में भी सुधार होगा। श्री बाजवा ने कहा कि जैसे हर कोई जानता है कि खाद्य उत्पादन के लिए तेज़ी से बढ़ रही लागत के कारण रिवायती कृषि अब किसानों के लिए लाभप्रद नहीं रही, इसलिए पंजाब सरकार द्वारा राज्य में डेयरी को सहायक कृषि धंधे के तौर पर विकसित करने पर ज़ोर दिया जा रहा है और डेयरी को एक लाभप्रद धंधा बनाने के लिए राज्य के पशु पालकों को मुफ़्त गर्भधारन और टीकाकरण सेवाओं और अन्य सेवाएं मुहैया करवाई जा रही हैं। उन्होंने साथ ही कहा कि पशु पालन विभाग ज्य़ादातर सेवाओं के लिए पशु पालकों से नाम-मात्र फीस वसूल ली जाती है।  पंजाब पशु पालन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री वी.के. जंजूआ ने बताया कि आयात किये गए एच.एफ. नस्ल के बैल 10 से 12 महीनों के उम्र के हैं और अगले 2 सालों में इनसे सीमन उत्पादन सही तरह से शुरू हो जायेगा। उन्होंने आगे कहा कि पहले साल के दौरान इन बैलों से तकरीबन 8,000-10,000 सीमन स्ट्राज़ के उत्पादन की उम्मीद की जा रही है, जो आने वाले सालों में 25,000 सीमन स्ट्राज़ तक बढ़ जायेगी। उन्होंने कहा कि विदेशी जर्म प्लाज़्मा को स्थानीय जीन पुल में शामिल किया जायेगा, जिसके नतीजे के तौर पर नस्ल में सुधार होगा। डायरैक्टर पशु पालन विभाग पंजाब डा. एच.एस. काहलों ने बताया कि आयात किये गए यह चार बैल को माहिरों की निगरानी अधीन रूपनगर के सीमन बैंक में रखा गया है। जिनमें से दो को रौणी फार्म पटियाला में भेजा जायेगा। उन्होंने आगे कहा कि जब इन नये बैलों से सीमन उत्पादन शुरू हो जायेगा तो सीमन बैंक के ज़रिये सभी पशु अस्पतालों और जिलों की डिस्पैंसरियों को सीमन स्ट्राज़ बाँटें जाएंगे, जो विभाग के गर्भधान प्रोग्राम के लिए इस्तेमाल की जाएंगी।



Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.