कैबिनेट मंत्री साधु सिंह धर्मसोत ने हरीके झील और वन्य जीव सैंचरी हरीके का किया दौरा

चंडीगढ़, 15 दिसंबरः हरीके वन्य जीव सैंचुरी में सैलानी अब फिर से विज़ट कर सकते हैं। यह जानकारी पंजाब के वन मंत्री स. साधु सिंह धर्मसोत ने हरीके पतन में स्थित हरीके वन्य जीव सैंचुरी का दौरा करने के दौरान दी। कैबिनेट मंत्री ने चीफ वाइल्ड लाईफ वार्डन पंजाब, आर.के. मिश्रा (आई.एफ.एस.) के साथ हरीके पतन के अपने इस विशेष दौरे के दौरान वकील और नेचर फोटोग्राफर हरप्रीत संधू की तरफ से तैयार किये हरीके वैटलैंड की प्राकृतिक छवि को दर्शाते हुये पोर्ट्रेट भी लांच किये। इस मौके उनके साथ विधायक पट्टी हरमिन्दर सिंह गिल विशेष तौर पर मौजूद थे।पोर्ट्रेट में हरीके पतन की प्राकृतिक छवि को खूबसूबत ढंग के साथ दिखाया गया है, जोकि प्रवासी पक्षियों के रेन बसेरे और सतलुज और ब्यास दरियाओं के संगम के साथ बनी प्राकृतिक झील के तौर पर मशहूर है।पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि सैंचुरी को और भी आकर्षित बनाने के लिए पहले 15 करोड़ रुपए की राशि जो कोविड-19 संकट के कारण जारी नहीं की जा सकी थी इसको जल्द जारी किया जायेगा।उन्होंने आगे कहा कि इन यत्नों के हिस्से के तौर पर हरीके पत्तन में वन्य जीव सुरक्षा में वृद्धि के लिए एक कमेटी भी बनाई जायेगी।वन मंत्री, पंजाब ने इस पोर्ट्रेट को लांच करते हुये वकील हरप्रीत संधू की तरफ से हरीके वैट्टलैंड की प्राकृतिक छवि पर नजर डालने के लिए तालाबन्दी के दौरान किये उनके सख्त यत्नों को मान्यता दी।इस मौके पर हरप्रीत संधू ने कहा कि पंजाब का यह प्रसिद्ध प्राकृतिक स्थान अपने आप में एक स्वर्ग है और अपनी वनस्पती और प्रवासी पक्षियों के लिए जाना जाता है, जो वन्य जीव सैंचुरी हरीके में प्रकृतिक झील के साथ घिरा हुआ है और अगर इस स्थान को सैलानियों के लिए खोला जाता है तो इस वैट्टलैंड की प्राकृतिक सुंदरता का आनंद मानने के लिए विश्व भर से सैलानी यहाँ आऐंगे।

 




Post a Comment

bttnews

{picture#https://1.bp.blogspot.com/-oirJNfu95cM/YOK4900dj6I/AAAAAAAAJls/7h_PHzP6O0cJXoVL9h4xvnL7LJ7EzOr3gCLcBGAsYHQ/s971/bttlogo.jpg} BASED ON TRUTH TELECAST {facebook#https://www.facebook.com/bttnewsonline} {linkedin#https://www.linkedin.com/company/bttnews} {youtube#https://www.youtube.com/channel/UCy13f3egtdAPzARVj1RKlHA}

For Ads

For Ads Click Hare

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.