चंडीगढ़ 3 दिसंबर पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने शिरोमणि अकाली दल के सरपरस्त प्रकाश सिंह बादल द्वारा  पदम विभूषण अवार्ड वापस करने के निर्णय पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि बेशक उन्होंने यह फैसला राजनीतिक मजबूरी व भूतकाल में अपनी पार्टी द्वारा इन काले खेती कानूनों का साथ देने की की बड़ी गलतियों पर पर्दा डालने की कोशिश के तौर पर लिया है पर फिर भी उनका यह फैसला स्वागत योग्य है। उन्होंने कहा कि बादल के इस फैसले से किसानों के संघर्ष को और बल मिलेगा। पर साथ ही उन्होंने कहा कि इसका फायदा तभी है अगर भाजपा की सरकार भी किसानों के मसले को गंभीरता से लें वह सत्ता की मदहोशी का त्याग कर किसानों की मांगों का हल करें।  जाखड़ ने कहा कि जब इन काले कानूनों संबंधी ऑर्डिनेंस आए थे तो यही अकाली दल व इसके नेता इन कानूनों को किसानों के लिए वरदान बता रहे थे। उन्होंने कहा कि श्री बादल ने अपने पुत्र के सत्ता  मोह में आ कर तब इन कानूनों को किसान के हित में बताकर जो गलती की थी अब उसी गलती को ढकने की कोशिश उनके द्वारा की गई है । जाखड़ ने कहा कि केंद्र सरकार का अड़ियल रवैया पूरे देश के विकास व संविधान के संघीय ढांचे के लिए खतरा है। उन्होंने केंद्र की भाजपा सरकार से आग्रह किया कि वे देशभर के किसानों, बुद्धिजीवियों के काले खेती कानूनों के प्रति रोष को समझे व किसानों की मांगों का हल करके इन कानूनों को वापस लिया जाए।



Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.