कार में से 4.64 लाख रुपए की नकदी भी की बरामद

दोषी के घर की तलाशी के दौरान पिछली रिश्वत के 5 लाख रुपए में से 1लाख रुपए बरामद

चंडीगढ़, 31 मार्चः पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने आज सब-तहसील माजरी, एस.ए.एस. नगर में तैनात वन गार्ड रणजीत ख़ान को अपने सीनियर ब्लाक अफ़सर बलदेव सिंह की तरफ़ से 4,50,000 रुपए की रिश्वत लेने के मामले में रंगे हाथों गिरफ़्तार किया है।इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये डी.जी.पी.-कम-चीफ़ डायरैक्टर विजीलैंस ब्यूरो श्री बी.के. उप्पल ने बताया कि मिर्जापुर में तैनात दोषी ब्लाक अफ़सर बलदेव सिंह ने शिकायतकर्ता भूपाल कुमार निवासी खरड़ से लकड़ी को सरकारी कुल्हाड़े से निशान लगाने के लिए 5,50,000 रुपए की माँग की थी। उसने शिकायतकर्ता से बीती 28/03/2021 को 5,00,000 रुपए रिश्वत के तौर पर पहले ही ले लिए थे। अब रिशवत की माँग बिना निशान वाले कुछ पेड़ काटने और खुले बाज़ार में लकड की ढुलाई के लिए कम जुर्माना लगाने के लिए की गई थी।विजीलैंस ब्यूरो के प्रमुख ने आगे बताया कि शिकायतकर्ता को वन विभाग की तरफ से माजरी ब्लाक के गाँव मिर्जापुर में ख़ैर के पेड़ काटने और बेचने के लिए बाकायदा पर्मिट जारी किया गया है और उसके पास 31/3/2021 तक साइट से पेड़ हटाने की आज्ञा है। अब संदिग्धों के द्वारा उसको लकड़ी ले जाने से इस कारण रोक दिया गया कि उसके खि़लाफ़ बिना निशान वाले गलत वृक्षों को काटने में बेनियमियों करने सम्बन्धी शिकायत है।डीजीपी विजीलैंस ब्यूरो ने बताया कि उक्त दोषियों ने शिकायतकर्ता से 2000 रुपए प्रति वृक्ष की माँग की थी और पहले ही उनसे 5 लाख रुपए ले लिए थे परन्तु अब वह लकड़ी की ढुलाई करने, जुर्माना 3,54,000 रुपए से घटा कर 2,50,000 करने और शिकायतकर्ता के साथी के नाम और जुर्माना रिपोर्ट जारी करने के बदले रिशवत की बाकी राशि 3,20,000 रुपए की माँग कर रहे थे।श्री बी.के. उप्पल ने बताया कि दोषी रणजीत ख़ान को आज उसके सीनियर ब्लाक अधिकारी बलदेव सिंह की तरफ़ से शिकायतकर्ता से 4,50,000 रुपए रिशवत लेते हुए, ओमैकस टावर पार्किंग एरिया से गिरफ़्तार किया गया है। तलाशी के दौरान मौके पर ही मुलजिम की कार में से 4,64,000 रुपए की नकदी भी बरामद की गई। इस रकम के स्रोत सम्बन्धी आगे जांच जारी है। इसके इलावा दोषी रणजीत ख़ान के घर की तलाशी के दौरान वहाँ से 1,00,000 रुपए भी बरामद किये गए हैं। यह दोषी की तरफ से पहले ली गई 5,00,000 रुपए की रिश्वत का बाकी हिस्सा है।अन्य विवरण सांझे करते हुये उन्होंने बताया कि दोषी बलदेव सिंह ब्लाक अधिकारी अभी फ़रार है और उसको पकड़ने के लिए कोशिशें जारी हैं। इसके इलावा दोषी रणजीत ख़ान की कार में से ब्लाक अधिकारी, मिर्जापुर का अधिकारित हथौड़ा भी बरामद हुआ है। इस सम्बन्धी विजीलैंस थाना एस.ए.एस. नगर में भ्रष्टाचार रोकथाम कानून की धारा 7 और आई पी सी की धारा 120-बी के अंतर्गत केस दर्ज किया गया है और इस सम्बन्धी आगे जांच जारी है।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.