Type Here to Get Search Results !

पिंजरे की लड़ाई पड़ी महंगी, अदालत ने तीन सगे भाइयों को 5-5 साल कैद व जुर्माने की सजा सुनाई

 श्री मुक्तसर साहिब :- अतिरिक्त जिला एवं सेशन जज प्रेम कुमार की अदालत ने वर्ष 2014 के थाना लंबी में दर्ज एक मामले की सुनवाई करते हुए तीन सगे भाइयों को 5-5 साल कैद व विभिन्न धाराओं के तहत 22-22 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है।

यह मामला पुलिस ने हरपाल सिंह उर्फ सोनी पुत्र बलदेव सिंह के बयानों पर दर्ज किया था। गांव फतेहपुर मनिया निवासी हरपाल सिंह ने बताया कि 19 अक्टूबर 2014 को घर के बाहर अपने पिता के साथ खड़ा था।

इसी दौरान सोनी सिंह, मोड़ा सिंह व काका सिंह सभी पुत्र महिंदर सिंह वासी फतेहपुर मनियावाला डंडे व अन्य हथियार लेकर आए तथा ललकारा मारते हुए उसके पिता पर हमला कर दिया। उसने मार दिया मार दिया का शोर मचाया जबकि उक्त तीनों उसके बाप को यह कहते हुए पीटते रहे कि इनको पिंजरा ना लौटाने का मजा चखाते हैं। इसी दौरान शोर सुनकर हरमेश सिंह भी आ गया तथा उक्त हमलावर मौके से फरार हो गए उसने गाड़ी का इंतजाम कर अपने पिता को जख्मी हालत में सिविल अस्पताल लंबी पहुंचाया। डॉक्टरों ने उसे बठिंडा रेफर कर दिया तथा बठिंडा से फरीदकोट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में रेफर कर दिया गया। 21 अक्टूबर 2014 को मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल फरीदकोट मैं उसके पिता बलदेव सिंह की हालत बयान देने के काबिल न होने के चलते पुलिस ने हरपाल सिंह के बयानों पर मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी। बाद में रिपोर्ट व अन्य सबूतों के आधार पर धाराओं में वृद्धि कर सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। इस मामले की सुनवाई करते हुए अदालत ने एडवोकेट बख्शीश सिंह सिद्धू की दलीलों से सहमत होते हुए तीनों भाइयों को धारा 307 के तहत पांच पांच साल कैद व अन्य धाराओं में भी कैद के अलावा कुल 22 - 22 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है।


Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.