Type Here to Get Search Results !

तीसरी कोरोना लहर से निपटने के लिए 15000 कोरोना वॉलंटियरों को करेंगे शिक्षित

 चंडीगढ़, 31 अगस्त: कोरोना की संभावित तीसरी लहर के साथ प्रभावित ढग़ से निपटने के लिए मिशन फतेह 2.0 के तहत राज्य में बनाए गए 15000 कोरोना वॉलंटियरों को प्रशिक्षण देने के लिए मास्टर ट्रेनर वॉलंटियर को आज मोहाली में राज्य स्तरीय ट्रेनिंग प्रोग्राम के दौरान कोविड से बचाव और जागरूक करने के लिए विशेष ट्रेनिंग दी गई।

युवा सेवाओं विभाग द्वारा स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से किसान विकास चैंबर मोहाली में करवाए गए राज्य स्तरीय ट्रेनिंग प्रोग्राम में एक वॉलंटियर प्रति ब्लॉक के हिसाब से पंजाब राज्य के 150 ब्लॉकों और शहरों में कुल 165 वॉलंटियर शामिल हुए। इस वर्कशॉप का उद्घाटन खेल एवं युवा सेवाएं विभाग के प्रमुख सचिव श्री राजकमल चौधरी ने किया और समागम की अध्यक्षता स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग सचिव और एनएचएम के मिशन डायरेक्टर श्री कुमार राहुल ने की। उनके साथ खेल विभाग के डायरेक्टर श्री डीपीएस खरबंदा, नेशनल हेल्थ मिशन के डायरेक्टर डॉ. अरीत कौर और यूनिसेफ से मिस हबीबा और तृप्त कौर मौजूद थे।
bttnews corona

इस दौरान अपने संबोधन में श्री राजकमल चौधरी ने बताया कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के द्वारा कोरोना के विरुद्ध तैयार किए गए मिशन फतेह 2.0 के तहत पंजाब राज्य में ग्रामीण एवं शहरी कोरोना वॉलंटियर बनाने के आदेश दिए गए थे। इसके तहत युवा सेवाएं विभाग के द्वारा राज्य के समूह गांवों और शहरी वॉर्डों में 15000 कोरोना वॉलंटियरों के ग्रुप बनाए गए। उन्होंने बताया कि इन ग्रुपों को विशेष प्रशिक्षण देने के लिए राज्य के हर ब्लॉक में से 1-1 मास्टर ट्रेनर वॉलंटियर नियुक्त किया गया है, जो आज की ट्रेनिंग के बाद अपने ब्लॉक के वॉलंटियर को ट्रेनिंग देगा और कोरोना की संभावित तीसरी लहर से सख्ती से निपटने के लिए तैयार करेगा। यह कोरोना कोरोना वॉलंटियर राज्य के किसी भी क्षेत्र में संभावित तीसरी लहर के दौरान कोरोना के मामले सामने आने पर कोविड रिस्पॉन्स टीमों समेत अहम रोल अदा करेंगे।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के नुमायंदों ने अपने संबोधन के दौरान कोरोना महामारी की तीसरी लहर की संभावना को सामने रखते हुए और अधिक जागरूक होने की जरूरत पर ज़ोर दिया। मास्टर ट्रेनर वॉलंटियरों को स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जारी दिशा-निर्देशों और जागरूकता संबंधी वीडियो दिखाईं गईं। इसके साथ ही यूनिसेफ द्वारा कोरोना संबंधी तैयार की गई विशेष वीडियो भी दिखाई गई ताकि मास्टर ट्रेनरों को कोरोना महामारी की बारीकियों और बचाव के अहम एहतियातों संबंधी अवगत करवाया जा सके। उसके बाद भाग लेने वालों द्वारा प्रशन-उत्तर सत्र भी करवाया गया और विजेताओं को इनाम भी बांटे गए। समारोह के दौरान युवा सेवाएं विभाग की सहायक डायरेक्टर चंडीगढ़ श्रीमती रुपिंदर कौर, डिप्टी डायरेक्टर डॉ. कमलजीत सिंह सिद्धू, सहायक डायरेक्टर बरनाला श्री विजय भास्कर, सहायक डायरेक्टर संगरूर श्री अरुन कुमार और सहायक डायरेक्टर जालंधर श्री जसपाल सिंह विशेष तौर पर शामिल हुए।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.