Type Here to Get Search Results !

जम्मू-कश्मीर आधारित नशा तस्करों से 21 किलो हेरोइन और 1.9 करोड़ रुपए की ड्रग मनी बरामद

 दो मुख्य नशा तस्कर भी गिरफ्तार, तीसरे साथी को काबू करने के लिए यत्न जारी : डीजीपी

चण्डीगढ़ /अमृतसर, 7 सितम्बरः पंजाब पुलिस से मिली पुख़्ता जानकारी पर कार्यवाही करते हुये जम्मू-कश्मीर पुलिस और भारतीय फ़ौज की तरफ से चलाए सांझे आपरेशन के अंतर्गत मंगलवार को जम्मू कश्मीर के राजौरी से 1.64 करोड़ रुपए की ड्रग मनी के साथ भरे दो थैले बरामद किये गए।
जम्मू-कश्मीर आधारित नशा तस्करों से 21 किलो हेरोइन और 1.9 करोड़ रुपए की ड्रग मनी बरामद
यह ड्रग मनी कथित तौर पर अमृतसर ग्रामीण पुलिस की तरफ से 26 अगस्त, 2021 को ज़ब्त की 17 किलो हेरोइन से सम्बन्धित बताई जाती है। पुलिस की तरफ से यह बरामदगी अमृतसर आधारित रणजीत सिंह उर्फ सोनू, जो अपनी टोयोटा इनोवा कैब और निचले भाग में विशेष तौर पर फिट किये कम्पारटमेंट के द्वारा तस्करी कर रहा थी, से की गई।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये डीजीपी पंजाब दिनकर गुप्ता ने बताया कि जांच के दौरान सोनू ने खुलासा किया कि उसने जम्मू-कश्मीर के नौशहरा इलाके के नशा तस्करों से नशे की खेप प्राप्त की थी, जिनकी पहचान सिकंदर हयात और जफर हुसैन के तौर पर की गई है।
डीजीपी ने कहा कि सोनू की तरफ से दी जानकारी पर पंजाब से एक पुलिस टीम नौशहरा भेजी गई, जो 29 अगस्त, 2021 को सिकंदर और जफर को गिरफ्तार करने में कामयाब रही। बाद में सिकंदर और जफर के खुलासों और पंजाब की पुलिस टीमों ने नौशहरा स्थित उनके घर से 29.5 लाख रुपए की ड्रग मनी बरामद की। उन्होंने कहा सिकंदर और जफर की तरफ से दी जानकारी के मुताबिक पुलिस ने शनिवार को 4 किलो और हेरोइन बरामद की थी, जोकि बहुत चालाकी से उसी इनोवा कार के दरवाजों में छुपाई गई थी।

डीजीपी दिनकर गुप्ता ने कहा कि और जांच के दौरान दोनों ने ड्रग मनी के बारे खुलासा किया, जो उनके तीसरे साथी मंज़ूर हुसैन ने अपने घर छुपाई हुई थी। अमृतसर (ग्रामीण) पुलिस द्वारा मुहैया करवाई गई जानकारी पर कार्यवाही करते हुए जम्मू-कश्मीर पुलिस ने फ़ौज से एक जांच मुहिम शुरू की जिसके अंतर्गत पुलिस दो थैलों में से 1,64,70,600 रुपए की ड्रग मनी बरामद करने में कामयाब रही।

एसएसपी गुलनीत सिंह ने बताया कि जम्मू-कश्मीर पुलिस ने थाना नौशहरा में धारा 17, 21 गैर-कानूनी गतिविधियों (रोकथाम) एक्ट के अंतर्गत एफआईआर नंबर 184 /2021 दर्ज की है और हेरोइन की समगलिंग और सप्लाई से सम्बन्धित पूरे नैटवर्क का पर्दाफाश के लिए अगली जांच जारी है।

ज़िक्रयोग्य है कि सोनू ने पहले जेल-लिंक के बारे खुलासा किया था और यह भी बताया था कि उसने यह खेप तरन तारन पट्टी के रणजीत सिंह उर्फ राणा (इस समय पर फरीदकोट जेल में बंद) और मलकीत सिंह उर्फ लड्डू (मुक्तसर जेल में बंद) के निर्देशों पर उठाई थी।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

CRYPTO CURRENCY