Type Here to Get Search Results !

मैं आज जो कुछ हूँ अपने अध्यापकों की वजह से हूँः चन्नी

 गौरवमयी उपलब्धियों वाले अध्यापक एफ.ए.पी. राष्ट्रीय पुरुस्कार के साथ सम्मानित

मैं आज जो कुछ हूँ अपने अध्यापकों की वजह से हूँः चन्नी

मोहाली, 3 अक्तूबरः


पंजाब के मुख्यमंत्री स. चरणजीत सिंह चन्नी ने आज अध्यापकों से आह्वान किया कि वह विद्यार्थियों की तकदीर बदलने में रोल मॉडल बनकर अग्रणी भूमिका निभाएं जिससे बच्चे समाज के आदर्श नागरिक बन सकें।
मैं आज जो कुछ हूँ अपने अध्यापकों की वजह से हूँः चन्नी

चण्डीगढ़ यूनिवर्सिटी घड़ूंआं में फैडरेशन ऑफ प्राईवेट स्कूल्ज़ एंड ऐसोसीएशंज़ ऑफ पंजाब द्वारा शानदार उपलब्धियों वाले अध्यापकों को राष्ट्रीय पुरुस्कारों के साथ सम्मानित करने संबंधी करवाए समागम दौरान संबोधन करते हुए स. चन्नी ने कहा कि अध्यापन एक उत्तम पेशा है और हम सभी अध्यापक भाईचारे द्वारा राष्ट्र निर्माण के लिए निभाई जाती बढ़िया सेवाओं के लिए उनके ऋणी हैं। स. चन्नी ने शैक्षिक संस्थाओं को धार्मिक स्थानों की तरह बताते हुए अपने पैतृक गाँव भजौली में अपने स्कूल के दिनों को याद किया और कहा, ‘‘मैं आज जो भी हूं, मेरे स्कूल के अध्यापकों की वजह से हूं।’’
अध्यापकों की भूमिकाओं को मां के समान बताते हुए मुख्यमंत्री ने अध्यापकों को विद्यार्थियों को ज्ञान बाँटने के लिए जी तोड़ मेहनत करने की अपील की। उन्होंने विद्यार्थियों में नैतिक मूल्य पैदा करने में अध्यापकों की भूमिका को सबसे महत्वपूर्ण बताते हुए भरोसा दिया कि अध्यापकों के लिए उनके फ़र्ज़ के निर्वाह के लिए और अधिक सुखद माहौल निर्मित किया जायेगा। उन्होंने समूची शिक्षा प्रणाली को सुचारू बनाने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया, जो अध्यापकों और विद्यार्थियों के लिए एक समान लाभदायक सिद्ध हो।
स. चन्नी ने विद्यार्थियों को भी अपील की कि वह अपनी पढ़ाई के लिए अपने समय के हर पल का सभ्य प्रयोग करें। विद्यार्थियों को एक लक्ष्य निश्चित करने और इसको प्राप्त करने के लिए सख़्त मेहनत करने के लिए उत्साहित करते हुए उन्होंने विद्यार्थियों को समय प्रबंधन के कौशल को निखारने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी दूसरों के प्रति दयालु हों और एक टीम के रूप में एक साथ आगे बढ़ें। विद्यार्थियों को भंगड़ा, एन.एस.एस., खेल और अन्य सांस्कृतिक और सहयोगी गतिविधियों में भाग लेने के लिए प्रेरित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि एसी गतिविधियां पढ़ाई के साथ बहुत ज़रूरी हैं और इनको भी उत्साहित किया जाना चाहिए। इस दौरान मुख्यमंत्री ने ऐसोसीएशन का लॉगो भी लांच किया।
समागम के दौरान मुख्यमंत्री ने उत्कृष्ट उपलब्धि वाले अध्यापकों को पुरुस्कार दिए, जिनमें राजेन्द्र शर्मा एस.एम.डी.आर. एस.डी. स्कूल पठानकोट, महक दून इंटरनेशनल स्कूल, अर्शपाल कौर दोआबा मॉडल हाई स्कूल, प्रीति माउंट कारमल स्कूल, परमजीत कौर दिशा पब्लिक सीनियर सेकंडरी स्कूल, लखविन्दर इंटरनेशनल फ़तेह अकैडमी, दलजीत कौर श्री गुरु हरकृष्ण पब्लिक स्कूल, राजिन्दर पाल कौर श्री गुरु हरकृष्ण पब्लिक स्कूल, पूनम शर्मा माउंट लिटेरा ज़ी स्कूल, राजवीर कौर सिख हेरिटेज मॉडल हाई स्कूल शामिल हैं। उन्होंने जसवंत कौर देवगन को पंजाब में उनके सराहनीय सामाजिक कार्यों के लिए ‘पंजाब का गौरव’ अवार्ड के साथ नवाजा।
इससे पहले चण्डीगढ़ यूनिवर्सिटी के चांसलर सतनाम सिंह संधू और एफ.ए.पी. के प्रधान डॉ. जगजीत सिंह धुरी ने भी अपने विचार साझा किये।
समागम दौरान अभिनेता और कॉमेडियन गुरप्रीत सिंह घुग्गी, डिप्टी कमिश्नर श्रीमती ईशा कालिया और एस.एस.पी. सतीन्द्र सिंह भी मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.