Type Here to Get Search Results !

अवैध हथियारों की सप्लाई के अंतरराज्यीय रैकेट का पर्दाफाश; दो गिरफ्तार

 मुख्य आरोपी यू.पी. का रहने वाला सेवारत सेना का जवान

चंडीगढ़/संगरूर, 16 अक्टूबर: 

संगरूर जि़ला पुलिस ने आज अवैध हथियारों की सप्लाई के अंतरराज्यीय रैकेट का पर्दाफाश करते हुए दो व्यक्तियों को गिरफ़्तार करके उनसे दो देसी हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया है।
गिरफ़्तार किए गए व्यक्तियों की पहचान पवन कुमार निवासी जि़ला अलीगढ़ (यूपी) और कुलविन्दर सिंह निवासी करईवाला जि़ला श्री मुक्तसर साहिब के तौर पर हुई है।

अवैध हथियारों की सप्लाई के अंतरराज्यीय रैकेट का पर्दाफाश; दो गिरफ्तार

एस.एस.पी. संगरूर स्वपन शर्मा ने प्रैस बयान में बताया कि जि़ला संगरूर और आस-पास के इलाकों में अवैध हथियारों की सप्लाई की घटनाएँ बढऩे के बाद डीएसपी योगेश कुमार, इंस्पेक्टर दीपिन्दर सिंह इंचार्ज अपराध शाखा के नेतृत्व में एक विशेष जाँच टीम (एसआईटी) का गठन किया गया।
उन्होंने बताया कि एक महीने की जाँच के दौरान एसआईटी इस अंतरराज्यीय रैकेट का पर्दाफाश करने में कामयाब रही। उन्होंने कहा कि पवन द्वारा किया गया यह दौरा पंजाब में किए गए कई दौरों में से एक था, जिसके दौरान उसको गिरफ़्तार कर लिया गया।
बताने योग्य है कि इससे पहले पवन ने अमृतसर और तरन तारन के क्षेत्र में कई हथियार सप्लाई किए हैं।
अधिक जानकारी देते हुए एसएसपी ने बताया कि आरोपी पवन जि़ला अलीगढ़ (यूपी) के रहने वाले चंचल कुमार, जोकि फ़ौज में सेवा निभा रहा है और माओ में तैनात है, के इशारे पर काम कर रहा था।
स्पष्ट रूप से चंचल कुमार मध्य प्रदेश के अवैध हथियार निर्माता के संपर्क में था और उसके कई साथी हैं, जो राज्य में असामाजिक तत्वों को देसी हथियार पहुँचाते हैं।
विशेष जाँच टीम ने खुलासा किया कि मध्य प्रदेश अवैध हथियारों के निर्माण का केंद्र बन गया है। पिछले मामलों की जाँच भी देसी हथियारों का केंद्र होने सम्बन्धी मध्य प्रदेश की ओर इशारा करती है।
एसएसपी स्वपन शर्मा ने कहा कि आने वाले दिनों में बड़ी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद होने की संभावना है।
जि़क्रयोग्य है कि पिछले छह महीनों में संगरूर पुलिस ने आर्म्स एक्ट के अधीन 17 केस दर्ज किए गए हैं और 32 देसी हथियार बरामद किए गए हैं।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.