Type Here to Get Search Results !

धनतेरस पर सोना-चांदी नहीं तो पीतल का बर्तन जरुर खरीदेंः पं. जोशी

 - बर्तन में चावल के दाने डालकर रखें, धन-धान्य की होगी प्राप्ति

धनतेरस पर सोना-चांदी नहीं तो पीतल का बर्तन जरुर खरीदेंः पं. जोशी

श्री मुक्तसर साहिब, 29 अक्तूबर - दीवाली से पहले मनाया जाने वाला पर्व

धनतेरस पर्व 2 नवंबर मंगलवार को आ रहा है। कार्तिक मास के कृष्‍णपक्ष की
तृयोदशी को धनतेरस के त्यौहार के रूप में मनाते हैं। इस दिन सोने-चांदी
और घर के बर्तनों की खरीदारी करना सबसे शुभ माना जाता है। इस दिन की गई
खरीदारी आपको बहुत लाभ पहुंचा सकती है। लेकिन क्या आप जानते है धनतेरस पर
कुछ चीजें ऐसी है जिन्हें खरीदने पर मां लक्ष्‍मी प्रसन्‍न होती है और घर
में धन की कोई कमी नहीं होती है। इस दिन धन के देवता कुबेर, मां
लक्ष्‍मी, धन्‍वतंरि और यमराज की पूजा करने का विधान है। यह जानकारी
सनातन धर्म प्रचारक प्रसिद्ध विद्वान ब्रह्मऋषि पं. पूरन चंद्र जोशी ने
गांधी नगर में आयोजित कार्यक्रम दौरान दी।
उन्होंने कहा कि ऐसी मान्यता है कि इस दिन सोने-चांदी और घर के बर्तनों
की खरीदारी करना सबसे शुभ माना जाता है। जो लोग सोने-चांदी के सिक्के
नहीं खरीद सकते वे लोग पीतल का कोई बर्तन खरीदें और उसमें कुछ मीठा या
चावल के दाने डालकर घर लाइये। घर में किसी चीज़ से भरा हुआ पीतल का बर्तन
लाना बड़ा ही अच्छा माना जाता है । दरअसल इसके पीछे एक मान्यता छुपी हुई
है। समुद्र मंथन के दौरान जब भगवान धन्वन्तरि का अवतरण हुआ था, तब वो
अपने दो बायें हाथों में से एक में अमृत से भरा पीतल का कलश लिये हुए थे
और उनके बाकी हाथों में शंख, चक्र और औषधी विद्यमान थी। लिहाजा धनतेरस पर
पीतल का बर्तन खरीदना बहुत ही शुभ होता है। झाड़ू को मां लक्ष्मी का ही
स्वरूप माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि धनतेरस के दिन झाड़ू को घर लाने
से स्वयं मां लक्ष्मी का घर में प्रवेश होता है। झाड़ू से हम अपने घरों
की साफ-सफाई करते हैं और घर का सारी नाकारात्‍मकता दूर करते हैं। यही
कारण है कि झाड़ू का महत्व बेहद ही खास माना जाता है। धनतेरस के दिन
अक्षत यानी चावल को भी घर लाना चाहिए। शास्‍त्रों में बताया गया है कि
अन्‍न में चावल यानी कि अक्षत को सबसे शुभ माना जाता है। अक्षत का मतलब
होता है धन संपत्ति में अनंत वृद्धि। इसलिए धनतेरस के दिन अक्षत लाने से
आपके धन में वृद्धि होती है। धनतेरस को लक्ष्मी-गणेश जी का चित्र बना हुआ
सोने या चांदी का सिक्का लाकर, उसे संभालकर अपने पास रखना चाहिए और
दीवाली के दिन लक्ष्मी पूजा के समय इसे लकड़ी के पाटे पर स्थापित करके
इसकी विधि-पूर्वक पूजा करनी चाहिए और बाद में इसे अपने घर या ऑफिस की
तिजोरी या मन्दिर में स्थापित करना चाहिए। इससे घर और बिजनेस की आर्थिक
स्थिति अच्छी होगी और आपको लाभ ही लाभ मिलेंगे। मिट्टी से बने
लक्ष्मी-गणेश जी खरीदना भी बड़ा ही शुभ होता है। धनतेरस के दिन धनिया
खरीदना बेहद शुभ माना जाता है। इस दिन धनिया लाकर मां लक्ष्मी को अर्पित
करनी चाहिए और इसमें से कुछ दाने गमले में भी बोने चाहिए। ऐसा कहा जाता
है कि इसको बोने पर अगर धनिया के पौधे निकलते हैं तो पूरी साल आपके घर
समृद्धि बनी रहती है।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.