Type Here to Get Search Results !

खेल समर्थकीय माहौल के लिए पुराने खिलाडिय़ों को आगे आना पड़ेगा: परगट सिंह

 पूर्व ओलम्पियन कप्तान परगट सिंह ने हॉकी खेल के पुराने दिन याद किए

जालंधर, 31 अक्टूबर:

पंजाब को खेल के क्षेत्र में फिर देश का अग्रणी राज्य बनाने और नौजवानों को खेल के साथ जोडऩे के लिए सभी को मिलकर प्रयास करना होगा, जिसके लिए विशेष तौर पर पुराने खिलाडिय़ों को भी आगे आना होगा। यह बात पंजाब के खेल और शिक्षा मंत्री परगट सिंह ने आज यहाँ लायलपुर खालसा कॉलेज जालंधर में चौथी बाबा जी.एस. बौधी वैटरन हॉकी लीग के फ़ाईनल मैच के दौरान खिलाडिय़ों को संबोधन करते हुए कही।

खेल समर्थकीय माहौल के लिए पुराने खिलाडिय़ों को आगे आना पड़ेगा: परगट सिंह

इस मौके पर परगट सिंह जो पूर्व हॉकी ओलम्पियन हैं, ने भी हॉकी पकड़ कर वैटरन खिलाडिय़ों के साथ हॉकी का मैच खेला। हॉकी मैदान में परगट सिंह का वही स्किल देखने को मिला। छोटी उम्र के खिलाड़ी खेल मंत्री परगट सिंह को खेलता देख कर बहुत उत्साहित हुए और उन्होंने अपने समय के महान खिलाड़ी रहे परगट सिंह के साथ सैल्फियां भी लीं। 1996 ऐटलांटा ओलम्पिक्स में परगट सिंह की कप्तानी अधीन भारत द्वारा खेलने वाले हरप्रीत सिंह मंडेर और संजीव कुमार भी मौके पर मौजूद थे। तिकड़ी ने आज हॉकी खेल कर पुराने दिन याद किए।

स. परगट सिंह ने लायलपुर खालसा कॉलेज को हॉकी ऐस्टोटरफ के लिए 5 लाख रुपए और जी.एस. बौधी क्लब को 2 लाख रुपए देने का भी ऐलान किया। उन्होंने संबोधन करते हुए कहा कि हॉकी खेल को बड़ी मुकाम पर ले जाने वाले हम सभी के प्यारे प्रशिक्षक जी.एस. बौधी जी की याद में होने वाली लीग में पुराने खिलाडिय़ों को खेलते देख कर खुशी हुई। उन्होंने कहा कि राज्य में खेल समर्थकीय माहौल सृजन करने के लिए पुराने खिलाडिय़ों को इसी तरह खेल मैदान में उतरना पड़ेगा, क्योंकि खिलाड़ी नौजवानों के आदर्श हैं, जिनको देख कर नौजवान खेल को शिद्दत से अपनाएंगे।
खेल मंत्री ने कहा कि खेल हमारे समाज का अटूट अंग है, यह सिफऱ् बचपन या जवानी के दिनों में ही नहीं, बल्कि सारी उम्र हमें इससे जुड़े रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज हॉकी फील्ड में स्टिक हाथ में पकड़ कर जो खुशी महसूस होती है, वह शब्दों में बयान नहीं की जा सकती।

इस मौके पर लायलपुर खालसा कॉलेज जालंधर के डॉ. गुरपिन्दर सिंह सपरा ने कैबिनेट मंत्री परगट सिंह का विशेष कर धन्यवाद करते हुए कहा कि पंजाब की जवानी, खेल, शिक्षा और एन.आर.आईज़ खुशकिस्मत हैं, जिनका नेतृत्व एक सुयोग्य और काबिल शख़्िसयत के हाथ में है। इस मौके पर लीग के मुख्य स्पॉन्सर बलदेव सिंह कंग (प्रबल टीएमटी सरिया) ने विश्वास दिलाया कि आगे भी इसी तरह हॉकी से जुड़े रहेंगे। क्लब के प्रधान दलजीत सिंह ने सभी मेहमानों और खिलाडिय़ों का धन्यवाद किया।

चौथी बाबा जी.एस. बौधी वैटरन हॉकी लीग के फ़ाईनल में ओलम्पियन जगदेव सिंह क्लब जालंधर ने नेशनल हॉकी क्लब कपूरथला को 2-0 से हराकर टूर्नामैंट जीता।

इस मौके पर हॉकी ओलम्पियन दविन्दर सिंह गर्चा, हॉकी ओलम्पियन वरिन्दर सिंह, द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता ओलम्पियन राजिन्दर सिंह जूनियर, कुलदीप सिंह, गुरमीत सिंह मीता, सुरिन्दर सिंह भापा, हरिन्दर सिंह संघा, हॉकी प्रशिक्षक बलजीत कौर, जगजीत सिंह, गुरमीत सिंह, सुखदर्शन कौर कंग, सतपाल सिंह मुंशी भी उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.