Type Here to Get Search Results !

ब्रह्म मोहिन्द्रा द्वारा केजरीवाल के गुमराह करने वाले बयान की निंदा

 कहा, पंजाब में लाल फीताशाही विरोधी एक्ट पहले से ही लागू

ब्रह्म मोहिन्द्रा द्वारा केजरीवाल के गुमराह करने वाले बयान की निंदा


चण्डीगढ़, 14 अक्टूबर: संसदीय मामलों संबंधी मंत्री श्री ब्रह्म मोहिन्द्रा ने आज आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय कनवीनर और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर पंजाब में लाल फीताशाही को ख़त्म करने सम्बन्धी गुमराह करने वाले बयान की निंदा की। केजरीवाल को स्वयं को अपडेट रखने का सुझाव देते हुए कैबिनेट मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने सरल और भरोसेयोग प्रक्रियाओं के द्वारा सार्वजनिक मामलों के प्रभावशाली प्रशासन को प्रोत्साहित करने के लिए पंजाब एंटी-रैड टेप एक्ट, 2021 पहले ही लागू कर दिया है, जो प्रक्रियाओं में तेज़ी लाएगा और शासन को प्रभावशाली बनाएगा। जि़क्रयोग्य है कि श्री ब्रह्म मोहिन्द्रा ने 10 मार्च, 2021 को पंजाब विधान सभा के सत्र के दौरान पंजाब एंटी-रैड टेप बिल-2021 पेश किया था, जिसको सदन द्वारा घ्वनि मत के साथ पास किया गया था, जिसके अनुसार सरकार नागरिकों और कारोबारियों को सेवाएं प्रदान करने में अनावश्यक देरी करने वाले किसी भी सरकारी अधिकारी/कर्मचारियों को 50,000 रुपए तक का जुर्माना या सम्बन्धित कर्मचारी को बखऱ्ास्त कर सकती है। इस एक्ट को पंजाब के राज्यपाल द्वारा 26 मार्च, 2021 को मंज़ूरी देने के बाद लागू किया गया। श्री मोहिन्द्रा ने केजरीवाल को अपनी जानकारी को अपडेट करने की सलाह देते हुए कहा, ‘‘मैं आपको पंजाब एंटी-रैड टेप एक्ट, 2021 की एक कॉपी भेज रहा हूँ।’’ केजरीवाल द्वारा 2022 की विधान सभा चुनावों से पहले पंजाब में औद्योगिक विकास और उत्थान के लिए व्यापारियों और कारोबारियों के साथ किए गए 10 वादों को सिफऱ् एक चुनावी एजेंडा करार देते हुए कहा कि पंजाब सरकार राज्य में हर तरह के निवेश की सुविधा देने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि प्रोत्साहन के रूप में निवेश करने के लिए स्पष्ट तौर पर पंजाब सबसे आकर्षक स्थान है और राज्य में सबसे उत्तम औद्योगिक नीति लागू की गई है। जि़क्रयोग्य है कि पंजाब सरकार 26 और 27 अक्टूबर, 2021 को प्रगतिशील पंजाब निवेशक सम्मेलन का चौथा संस्करण आयोजित करेगी, जो राज्य में कारोबार शुरू करने और प्रफुल्लित करने के लिए उपलब्ध व्यापक अवसरों पर प्रकाश डालेगा। यह सम्मेलन वर्चुअल ढंग से समूचे भारत के उद्योगपतियों के साथ मिलकर आयोजित किया जाएगा और 27 अक्टूबर को राज्य की औद्योगिक राजधानी लुधियाना में एक विशेष राज्य सत्र भी करवाया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.