Type Here to Get Search Results !

पंजाब में पिछले साढ़े चार सालों के दौरान 99,000 करोड़ रुपए से अधिक का हुआ निवेश - सीईओ निवेश पंजाब

 प्रमुख सचिव तेजवीर सिंह द्वारा उद्योगपतियों को 26 और 27 अक्तूबर, 2021 को होने वाले ‘प्रगतिशील पंजाब निवेशक सम्मेलन’ में शामिल होने का न्योता

पंजाब में पिछले साढ़े चार सालों के दौरान 99,000 करोड़ रुपए से अधिक का हुआ निवेश - सीईओ निवेश पंजाब
चंडीगढ़, 8 अक्तूबरः चौथे प्रोग्रेसिव पंजाब इन्वेस्टर समिट के मद्देनज़र आज प्रमुख सचिव उद्योग, वाणिज्य और निवेश प्रोत्साहन तेजवीर सिंह ने उद्योगपतियों के साथ विचार विमर्श किया। 26, 27 अक्तूबर को शुरू होने वाले इस समिट में पूरे भारत के उद्योगपतियों द्वारा वर्चुअल माध्यम से भाग लिया जायेगा और 27 अक्तूबर को औद्योगिक राजधानी के तौर पर जाने जाते लुधियाना में विशेष सैशन भी करवाया जायेगा। प्रमुख सचिव श्री तेजवीर सिंह ने सभी उद्योगपतियों को प्रगतिशील पंजाब निवेशक सम्मेलन में शामिल होने का न्योता देते हुए कहा कि यह सम्मेलन हमारे मज़बूत ईकोसिस्टम और कारोबार की शुरुआत और विस्तार के लिए प्रदान किये जाने वाले व्यापारिक अवसरों की झलक पेश करेगा। कनफैड्रेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीयलिस्ट्स (सीआईआई) द्वारा ‘प्रगतिशील पंजाब के लिए उद्योग को बढ़ावा देना’ के विषय पर करवाए सैशन को संबोधन करते हुए प्रमुख सचिव ने सतत औद्योगिक विकास को यकीनी बनाने की ज़रूरत पर ज़ोर देते हुए कहा कि यह समग्र विकास को हासिल करने की कुंजी है। उद्योग दिग्गजों को पंजाब की अथाह विकास क्षमता का लाभ लेने के लिए उत्साहित करते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब की ख़ुशहाली हमारे राष्ट्रीय विकास में महत्वपूर्ण योगदान डालती है। बाद में, प्रमुख सचिव ने पीएचडी चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा आयोजित की गई वर्चुअल स्टेकहोल्डर कंसलटेशन मीटिंग के दौरान पंजाब के प्रमुख कारोबारी भाईचारे को भी संबोधन किया। उन्होंने कहा कि पंजाब में कारोबार को और अधिक आसान बनाने के लिए राज्य सरकार ने पहले ही अमृतसर में पैरिशेबल कार्गाे सैंटर चालू कर दिया है, जबकि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा मोहाली में एक और कार्गाे टर्मिनल को भी जल्द ही चालू कर दिया जायेगा। इस दौरान इन्वेस्ट पंजाब के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) रजत अग्रवाल ने राज्य और उद्योग की हिस्सेदारी और विकास बारे जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 16 मार्च 2017 से 30 सितम्बर 2021 तक राज्य में 99,000 करोड़ रुपए से अधिक के प्रस्तावित प्रोजेक्टों का निवेश प्राप्त हुआ है जिनमें से 51 फीसदी से अधिक प्रोजैक्ट शुरू हो चुके हैं। उन्होंने राज्य के विभिन्न पहलकदमीयों जैसे कि कारोबारों को बिजली सब्सिडी, डीम्ड अप्रूवल और केंद्रीय निरीक्षण प्रणाली बारे भी जानकारी दी जिससे व्यापारिक माहौल को और अधिक उपयुक्त बनाया जा सके। इससे पहले, सीआईआई पंजाब के चेयरमैन भवदीप सरदाना, जो सुखजीत स्टार्च एंड कैमीकल्स लिमिटेड के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और सीईओ भी हैं, ने कहा कि राज्य सरकार ने साढ़े चार सालों के दौरान कारोबार विकास नीति पंजाब और बिज़नेस फर्स्ट पोर्टल समेत कुछ व्यापक सुधार किये हैं, जिसके नतीजे के तौर पर न सिर्फ़ राज्य में नये निवेश बढ़े हैं बल्कि मौजूदा उद्योग की प्रवृत्ति भी पुनर्जीवित हुई है। पीएचडी चेंबर इंडस्ट्री के मैनेजिंग कमेटी मैंबर आर एस सचदेवा ने पंजाब के बठिंडा, संगरूर, राजपुरा और होशियारपुर जिलों में 3100 एकड़ ज़मीन पर स्थापित किये जाने वाले चार औद्योगिक पार्कों की स्थापना के लिए राज्य सरकार की सराहना की। कंगारू ग्रुप ऑफ कम्पनीज़ के मैनेजिंग डायरैक्टर अंबरीश जैन ने इस सैशन को पंजाब में कारोबार को बढ़ावा देने के लिए एक मज़बूत रणनीति बनाने का उत्तम प्रयास बताया जिससे उद्योग और सरकार दोनों एक दूसरे के पूरक होकर काम कर सकेंगे जिससे आने वाले समय में पंजाब के उद्योगों को विश्वस्तर पर प्रतिस्पर्धा के योग्य बनाया जा सके।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.