Type Here to Get Search Results !

कार्य साधक अधिकारी ने आर.टी.आई. का जवाब देने में की टाल मटोल : ढोसीवाल

 - मामला अंबेडकर पार्क पर किए खर्च की जानकारी संबंधी -

कार्य साधक अधिकारी ने आर.टी.आई. का जवाब देने में की टाल मटोल : ढोसीवाल

श्री मुक्तसर साहिब, 17 नवंबर 
 करीब साढे डेढ वर्ष से पहले स्थानीय जिला प्रबंधकी कंप्लैक्स पास देश के महान विद्वान और संविधान निर्माता भारत रत्न बाबा साहिब भीम राव अंबेडकर के नाम पर अंबेडकर पार्क बना हुआ है। अपनी स्थापना से लेकर ही यह पार्क स्थानीय नगर कौंसल और प्रशासन की अनदेखी और गनगहली का शिकार रहा है। न तो पार्क की देख रेख के लिए किसी माली यां चौंकीदार का प्रबंध है और न ही किसी सेवादार का। यह पार्क अक्सर ही दुर्दशा का शिकार रहता है। मौजूदा समय में भी पार्क की चार दिवारी की बेहद खसता हालत है, कई महीनों से गरिलें टूट कर ज़मीन पर पड़ी हुई हैं। बहुत बार इस पार्क की हालत सुधारने के लिए नगर कौंसल और प्रशासन के ध्यान में यह मामला लाया गया है, परंतू किसी पर कोई असर नहीं हुआ। यहां यह बताना भी जरूरी है कि जिला प्रबंधकी कंप्लैक्स और जिला कचहरी के बिल्कुल पास बने हुए इस पार्क के पास से पिछले साढे सोल्ह वर्ष में कई लाखों जूडीशियल अधिकारी और डिप्टी कमिश्नर समेत अन्य उच्च प्रशासनिक अधिकारी गुजरते होंगे, पर फिर भी इस पार्क की दुर्दशा देख कर नगर कौंसल और प्रशासनिक लाप्रवाही पर रोना आता है। यहां यह भी बताना जरूरी है कि स्थानीय नगर कौंसल की हदूद अंदर बने इस पार्क समेत सभी पार्कों की देख रेख और सेवा संभाल की जिम्मेदारी स्थानीय नगर कौंसल की बनती है। पूरे समाज के भले और विकास को समर्पित प्रमुख गैर सरकारी समाज सेवी संस्था मुक्तसर विकास मिशन के प्रधान जगदीश राय ढोसीवाल ने करीब सवा महीना पहले बीती 08 अक्तूबर को सूचना के अधिकार एक्ट तहत स्थानीय नगर कौंसल के कार्य साधक अधिकारी से अंबेडकर पार्क की देख रेख और सेवा संभाल के पिछले पंद्रह वर्षों दौरान खर्च की गई राशि की जानकारी मांगी थी। परंतू कार्य साधक अधिकारी द्वारा अभी तक इस संबंधी कोई जानकारी नहीं दी गई। प्रधान ढोसीवाल ने शंका जाहिर की है, कि नगर कौंसल ने इस पार्क की देख रेख और सेवा संभाल पर अपने द्वारा कोई राशि खर्च नहीं की, जिस कारण यह सूचना देने से टाल मटोल की जा रही है। ढोसीवाल ने यह भी बताया है कि उनकी संस्था द्वारा माता भाग कौर हैरीटेज़ कंप्लेक्स पार्क, डॉ. अंबेडकर पार्क और डॉ. अंबेडकर चौंक की हालत और दिख सुधारने के लिए नगर कौंसल और जिला प्रशासन को लिखित तौर पर अल्टीमेटम दिया गया है। अल्टीमेटम अनुसार अगर उक्त पार्क और चौंक की हालत अगामी 06 दिसंबर तक न सुधारी गई तो उनकी संस्था द्वारा अनिश्चित समय की भूख हड़ताल शुरू की जाएगी। ढोसीवाल ने डिप्टी कमिश्नर से मांग की है कि उक्त पार्कों और चौंक की हालत तुरंत सुधारी जाए और इन पार्कों की हालत न सुधारने के लिए जिम्मेदार अधिकारियों/कर्मचारियों विरूद्ध बनती कानूनी कार्यवाई की जाए। 

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.