Type Here to Get Search Results !

परगट सिंह द्वारा अधिकारियों को तरस के आधार पर नौकरियां देने की प्रक्रिया को और तेज करने के निर्देश

 शिक्षा मंत्री ने 26 स्टाफ सदस्यों को नियुक्ति पत्र सौंपे

चंडीगढ़, 30 नवम्बर
शिक्षा मंत्री परगट सिंह ने आज अधिकारियों को मृतक मुलाजिमों के योग्य वारिसों को तरस के आधार पर नौकरियां देने के काम में तेज़ी लाने के निर्देश देते हुये कहा है कि इसके लिए समय सीमा और कम की जाये।

परगट सिंह द्वारा अधिकारियों को तरस के आधार पर नौकरियां देने की प्रक्रिया को और तेज करने के निर्देश

शिक्षा विभाग की तरफ से पंजाब सिविल सचिवालय में आज 26 मृतक स्टाफ कर्मचारियों के वारिसों को नौकरी पत्र सौंपने के मौके पर शिक्षा मंत्री परगट सिंह ने कहा कि दुख की घड़ी में ऐसे परिवारों की मदद करना सरकार का नैतिक फ़र्ज़ है। आज नियुक्ति पत्र हासिल करने वालों में एक मिस्ट्रेस, 7 क्लर्क, 4एस.एल.ए., 12 सेवादार और 2चौकीदार शामिल थे।

उन्होंने इस मौके पर कुछ पारिवारिक सदस्यों के साथ बातचीत करके फीडबैक लेते हुये उनको पूछा कि नौकरी हासिल करने के लिए कोई मुश्किल हुई या कितना समय लगा। इस बातचीत पर संतोष प्रकटाते हुये शिक्षा मंत्री ने कहा कि उनको संतोष हुआ कि अधिकतर मामलों में विभाग हमदर्दी से काम करता है। उन्होंने कहा कि इस प्रक्रिया को और सरल और सुचारू बनाने की ज़रूरत है जिससे योग्य लाभपात्रियों को कोई मुश्किल पेश न आए।

परगट सिंह ने कहा कि अपने पारिवारिक सदस्यों की मौत के कारण इन लाभार्थियों को पहले ही काफ़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि हमें इन दुखी परिवारों की मुश्किलों को बढ़ाने की बजाय उनकी सहायता करनी चाहिए जिससे वह अपनों को गंवाने के सदमे से उभर सकें।

शिक्षा मंत्री ने नव-नियुक्त कर्मचारियों को अपनी ड्यूटी पूरी तनदेही और समर्पण से निभाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि लाभार्थियों को अपने देश और राज्य की सेवा करने का मौका मिला है और उनको अपनी ड्यूटी तनदेही से निभाते हुए नयी मिसाल कायम करनी चाहिए। परगट सिंह ने नव-नियुक्त उम्मीदवारों के लिए उनके सुनेहरे भविष्य की कामना की।

डी.पी.आई. (सेकंडरी शिक्षा) सुखजीत पाल सिंह ने आगे बताया कि जिनको नियुक्ति पत्र जारी सौंपे गए हैं, उनमें परमिन्दर कौर (पंजाबी मिस्ट्रेस), नीतू शर्मा, शुभम सेठी और कुलजीत (क्लर्क), बीरकरन सिंह, नवजोत कौर, गीता गिल और काशवीर रंधावा (एस.एल.ए.) सतविन्दर कौर, कोमल शर्मा, प्रदीप कुमार, अमनदीप सिंह, रुचिका बैंस, राजिन्दर कौर, हैरिस, मनप्रीत सिंह, गुरमीत राम, निशांत शर्मा, गुरजीत कौर और कुलविन्दर कौर (सेवादार) और ऐंडी और अर्जुन कुमार (चौकीदार) शामिल थे।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.