Type Here to Get Search Results !

पंजाब राज तम्बाकू रहित दिवस मनाया

 देश में लगभग 35 प्रतिशत लोग करते हैं तम्बाकू का प्रयोग:- डा. बांसल 

पंजाब राज तम्बाकू रहित दिवस मनाया

सिविल सर्जन डा. रंजू सिंगला के दिशा निर्देश और सी.एच.सी चक्क शेरे वाला के सीनियर मैडीकल अफसर डा. सुनील कुमार बांसल की अगुवायी में सी.एच.सी में "पंजाब राज तम्बाकू रहित दिवस'' मनाया गया। इस मौके स्टाफ को तम्बाकू विरोधी एक्ट बारे जानकारी देते हुए डा. बांसल ने बताया कि पंजाब सरकार की तरफ से फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड एक्ट 2006 अधीन जारी नोटिफिकेशन अनुसार राज में गुटखा, पान मसाला आदि और कोई भी खाने वाला पदार्थ जिस में तम्बाकू और निकोटीन हो को बनाने, जमा करने, बेचने और बाँटने पर पूर्ण पाबंदी है। उन्होंने बताया कि खाने -पीने वाली वस्तुएँ बेचने का लाइसेंसशुदा दुकानदार /कमर्शियल अदारा यदि तम्बाकू या तम्बाकू युक्त पदार्थ बेचता पाया गया तो उस का लाइसेंस रद्द किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि जनतक स्थानों पर तम्बाकूनोशी करने, सिगरेट और तम्बाकू उत्पादों की प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तौर पर प्रचार करने, 18 साल से कम उम्र के व्यक्ति को सिगरेट या तम्बाकू उत्पाद बेचने /खरीदने, किसी भी शैक्षणिक संस्था की बाहरली दीवार से 100 गज के दायरे में सिगरेट या अन्य तम्बाकू उत्पादों के सेवन और बिक्री करने या बिना स्वास्थ्य चेतावनियों से सिगरेट और अन्य तम्बाकू उत्पादों की बिक्री पर मुकम्मल तौर पर पाबंदी है। तम्बाकू सेवन के हैरानीजनक तथ्यों बारे बताते हुए उन्होंने कहा कि भारत में करीब 35 प्रतिशत लोग तम्बाकू का प्रयोग करते हैं, 21 प्रतिशत लोग बीड़ी सिगरेट पीने के साथ साथ खाने वाला तम्बाकू भी ईस्तेमाल करते हैं, और यह संख्या लगातार बढ़ रही है। तम्बाकू का सेवन 2 तरह किया जाता है। एक चबाकर जैसे जर्दा, गुटका पान आदि। इन के सेवन के साथ मुँह का कैंसर होता है। दूसरा सिगरेट, बीड़ी पीने के साथ फेफड़ों का कैंसर होता है। इस के ज़हरीले अंश दिल, दिमाग़, गुर्दे, साँस प्रणाली और प्रजनन प्रणाली और बुरा प्रभाव डालते हैं। डा. जतिन्दर पाल सिंह ने बताया कि सूबे में खुली सिगरेट/तम्बाकू बेचने और तम्बाकू कंट्रोल एक्ट की धारा -7 के अधीन पाबंदी है और सूबे में ड्रग और कोसमैटिक एक्ट अधीन ई -सिगरेट को ग़ैर मंजूरशुदा ड्रग घोषित किया गया है। उन्होंने कहा कि फील्ड स्टाफ को यह हिदायत की जाए कि कोटपा एक्ट 2003 के अंतर्गत तम्बाकू विरोधी गतिविधियों की जाएँ क्योंकि तम्बाकू फेफड़ों को नुक्सान पहुंचाता है और कोरोना काल में यह और भी ज़रूरी हो जाता है कि लोग तम्बाकू सेवन से परहेज़ करें। इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा पोस्टर भी जारी किए गए। इस मौके पर डा. अमरिन्दर सिंह, डा. सिमरप्रीत कौर, डा. अमनप्रीत कौर, डा. अलीशा, डा. हरकीर्तन सिंह, बी.ई.ई मनबीर सिंह, एस.आई परमजीत सिंह, मनजीत सिंह, और समूह स्टाफ और लोग मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.