Type Here to Get Search Results !

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कोविड वैक्सीन की दूसरी ख़ुराक ली

-मुख्यमंत्री चन्नी द्वारा लोगों को ओमीक्रोन के मद्देनज़र बचाव के लिए जल्द से जल्द टीकाकरण करवाने की अपील

-अब तक राज्य की 80 प्रतिशत आबादी को पहली ख़ुराक और 38 प्रतिशत को दूसरी ख़ुराक लगी

चंडीगढ़, 7दिसम्बर

कोविड वैक्सीन की दूसरी ख़ुराक लेने के उपरांत पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने आज लोगों को कोविड के नये रूप ओमीक्रोन से होने वाले संभावित संक्रमण से अपने आप को बचाने के लिए किसी भी किस्म की ढील किये बिना जल्द से जल्द अपना टीकाकरण करवाने की अपील की।

मुख्यमंत्री चन्नी द्वारा लोगों को ओमीक्रोन के मद्देनज़र बचाव के लिए जल्द से जल्द टीकाकरण करवाने की अपील

आज यहाँ पंजाब भवन में ओमीक्रोन के मद्देनज़र किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए तैयारियों का जायज़ा लेने के लिए मीटिंग की अध्यक्षता करते हुये मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य और मैडीकल शिक्षा अनुसंधान विभागों को टीकाकरण मुहिम में और तेज़ी लाने के लिए मिलकर काम करने के निर्देश दिए जिससे राज्य भर में सभी योग्य व्यक्तियों का जल्द से जल्द टीकाकरण किया जा सके।


मुख्यमंत्री को राज्य में कोविड टीकाकरण की अब तक की स्थिति के बारे अवगत करवाते हुये सचिव स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विकास गर्ग ने बताया कि कुल 2.46 करोड़ योग्य आबादी में से 1.66 करोड़ (80 प्रतिशत) को पहली ख़ुराक दी जा चुकी है और लगभग 38 प्रतिशत भाव 79.87 लाख आबादी को दूसरी ख़ुराक दी गई है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के पास मौजूदा समय 46 लाख ख़ुराकों का स्टाक उपलब्ध है और मैडीकल /पैरा मैडीकल टीमें बाकी रहती आबादी को कवर करने के लिए टीकाकरण की मुहिम में सक्रियता से लगी हुई हैं। इसके इलावा कोरोना मामलों का पता लगाने के लिए रोज़मर्रा के 30,000 के करीब टैस्ट किये जा रहे हैं।

और जानकारी देते हुये स्वास्थ्य सचिव ने मुख्यमंत्री चन्नी को बताया कि विभाग नये वेरियंट के फैलने की किसी भी संभावना का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार है। विभाग की तरफ से किसी भी स्थिति से निपटने के लिए अपेक्षित साजो-सामान खरीदा गया है जिसमें 12 लाख रैपिड एंटीजेन किटें, 17 लाख वीटीएम टैस्ट किटें, 20 जिलों के लिए आरटीपीसीआर लैबें, पैडीऐट्रिक एल2 (790) और एल3(324) बैडों के इलावा व्यस्क एल2(3500) और एल3(142) बैड और कोविड मरीज़ों के लिए दवाओं का उपयुक्त स्टाक शामिल है।

नये वेरियंट के कारण पैदा होने वाली संभावित लहर से निपटने के लिए अब तक किये गए प्रबंधों पर तसल्ली ज़ाहिर करते हुये मुख्यमंत्री ने साफ तौर पर कहा कि चाहे राज्य में ओमीक्रोन का एक भी मामला सामने नहीं आया है, इसलिए हम इस सम्बन्धी किसी भी ढील को सहन नहीं कर सकते।

मीटिंग में दूसरों के इलावा उप मुख्यमंत्री ओ.पी. सोनी, जिनके पास स्वास्थ्य विभाग भी है, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव हुसन लाल, प्रमुख सचिव गृह अनुराग वर्मा, मुख्यमंत्री के विशेष प्रमुख सचिव राहुल तिवाड़ी और डीजीपी इकबाल प्रीत सिंह सहोता शामिल थे।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

CRYPTO CURRENCY