Type Here to Get Search Results !

पंजाब के हरेक आंगणवाड़ी केंद्र पर महिलाओं को मुफ़्त में मुहैया होंगे सैनेटरी पैड - रज़िया सुल्ताना

 महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए नयी पहल

पंजाब के हरेक आंगणवाड़ी केंद्र पर महिलाओं को मुफ़्त में मुहैया होंगे सैनेटरी पैड - रज़िया सुल्ताना

चंडीगढ़, 22 दिसंबरः

उड़ान स्कीम के अंतर्गत अब पंजाब के सभी 27 हज़ार 314 आंगणवाड़ी केन्द्रों पर ज़रूरतमन्द महिलाओं को हरेक महीने मुफ़्त में सैनेटरी पैड मुहैया करवाए जाएंगे। इसकी औपचारिक शुरुआत सामाजिक सुरक्षा और महिला एवं बाल विकास मंत्री रज़िया सुल्ताना ने बीते दिनों मालेरकोटला से कर दी है।

इस सम्बन्धी ज़्यादा जानकारी देते हुये सामाजिक सुरक्षा और महिला एवं बाल विकास मंत्री रज़िया सुल्ताना ने बताया कि राज्य में महिलाओं के सशक्तिकरण सम्बन्धी बहुत सी पहलकदमियां की जा रही हैं। इसी के अंतर्गत अब राज्य के सभी आंगणवाड़ी केन्द्रों पर ज़रूरतमन्द लड़कियों /महिलाओं को प्रति महीना 9सैनेटरी पैड मुफ़्त में दिए जाया करेंगे।
 
उन्होंने कहा कि पहले पड़ाव में हरेक आंगणवाड़ी केंद्र पर करीब 50 लड़कियों /महिलाओं को कवर किया जा रहा है। इस तरह हरेक महीने 13 लाख 65 हज़ार 700 लाभार्थियों को सैनेटरी पैड दिए जाया करेंगे। हरेक महीने बाँटे जाने वाले सैनेटरी पेडों की कुल संख्या 1करोड़ 22 लाख 91 हज़ार 300 बनती है। बीते कल उन्होंने मालेरकोटला में ज़रूरतमन्द लड़कियों/महिलाओं को सैनेटरी पैड बाँट कर इस स्कीम की औपचारिक शुरुआत कर दी है। इस मौके पर उन्होंने सैनटरी पैड का रिकार्ड रखने वाले प्रोफार्मे को ‘ऐम-सेवा’ एप्लीकेशन पर अपलोड करने की शुरुआत भी की।
इसके इलावा महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए ज़िला मलेरकोटला में महिलाओं की एक दुकान स्थापित की गई है। इस दुकान में महिलाएं अपने घर का बना समान बेच कर आर्थिक तौर पर स्वयं को मज़बूत बना रही हैं।

रज़िया सुल्ताना ने बताया कि पंजाब में लड़कियों की दर में विस्तार करेन के लिए भी राज्य सरकार की तरफ से सार्थक यत्न किये जा रहे हैं। ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ स्कीम के अंतर्गत जहाँ लड़कियों के माता-पिता को सम्मान किया जा रहा है वहीं नवजात बच्चियों को प्राथमिक अपेक्षित किटें मुहैया करवाई जा रही हैं। काबिलेगौर है कि रज़िया सुल्ताना ने स्वयं मालेरकोटला में एक विशेष समागम के दौरान 100 नवजात बच्चियों को ऐसी किटें बाँटी।
 
सामाजिक सुरक्षा और महिला एवं बाल विकास विभाग के डायरैक्टर डी.पी.एस. खरबन्दा ने बताया कि लोगों को जागरूक करने के लिए सामाजिक सुरक्षा विभाग की तरफ से एक जिंगल भी बनाया गया है जिससे बेटियों के लिंग अनुपात में विस्तार किया जा सके। उन्होंने कहा कि जानकारी भरपूर यह जिंगल पूरे पंजाब में चलाया जायेगा।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.