[post ads]


जिस बात का भय था वही हुई  जिले में हुजुर साहिब से लौटे कुछ लोगों में से एक गांव काउनी निवासी तथा दो गुरुहरसहाय रोड निवासी लोगों की कोरोना रिपाेर्ट पॉजिटिव पाई गई है। इससे पहले जिले के एक कोरोना पॉजीटिव मूल रूप से मेरठ निवासी मुहम्ममद समसा की रिपाेर्ट चाहे एक बार नैगेटिव आ गई है लेकिन अभी उसकी एक बार और सेंपलिंग की जानी बाकी है। हालांकि सुबह से सेहत विभाग गुरुहरसहाय रोड निवासी दो लोगों की रिपोर्ट को पॉजिटिव नहीं मान रहा था, लेकिनप अब सिविल सर्जन एचएन सिंह ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि गांव काउनी निवासी लखवीर व गुरुहरसहाय रोड मुक्तसर निवासी लखविंदर सिंह तथा जोगिंदर सिंह तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजीटिव है। इससे पहले शहर में काेरोना मरीज पाए गए मेरठ निवासी मुहम्मद समसा की एक बार फिर से रिपोर्ट नैगेटिव तो आ चुकी है लेकिन उसका एक बार और सेंपल लिया जाएगा।

श्री मुक्तसर साहिब
जिस बात का भय था वही हुई  जिले में हुजुर साहिब से लौटे कुछ लोगों में से एक गांव काउनी निवासी व्यक्ति की कोरोना रिपाेर्ट पॉजिटिव पाई गई है, जबकि गुरुहरसहाय रोड निवासी दो लोगों की बताई जा रही पॉजिटिव रिपोर्ट को स्वास्थय विभाग संदेहास्पद बता रहा है। सिविल सर्जन एनएन सिंह ने बताया कि विभाग के पास अभी एक ही व्यक्ति गांव काउनी निवासी लखवीर सिंह की रिपाेर्ट पॉजिटिव है। उनके अनुसार जो दो अन्य व्यक्ति गुरुहरसहाय रोड के लखविंदर सिंह तथा जोगिंदर सिंह बताए जा रहे हैं उनकी रिपोर्ट बीती रात को नैगेटिव थी तथा स्वास्थय विभाग फिलहाल उन्हें पॉजीटिव नहीं मानता। इस सूरत में उक्त दोनों व्यक्तियों की रिपोर्ट फिलहाल संदेह के दायरे में हैं, जिनकी दोबारा से सैंपलिंग होगी। इससे पहले शहर में काेरोना मरीज पाए गए मेरठ निवासी मुहम्मद समसा की एक बार फिर से रिपोर्ट नैगेटिव तो आ चुकी है लेकिन उसका एक बार और सेंपल लिया जाएगा।  हालांकि कुछ समाचार पत्र तीन लोगों को पॉजिटिव बताया जा रहा है, लेकिन फिलहाल विभाग एक की ही पुष्टि कर रहा है।


ਪੰਜਾਬ ਸਰਕਾਰ ਦੀ ਵੈਬਸਾਈਟ http://covidhelp.punjab.gov.in/ 'ਤੇ ਜਾਕੇ ਕਰਵਾਈ ਜਾ ਸਕਦੀ ਹੈ ਰਜਿਸਟਰੇਸ਼ਨ
ਪਟਿਆਲਾ 27 ਅਪ੍ਰੈਲ:
ਡਿਪਟੀ ਕਮਿਸ਼ਨਰ ਪਟਿਆਲਾ ਸ੍ਰੀ ਕੁਮਾਰ ਅਮਿਤ ਨੇ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਪੰਜਾਬ ਸਰਕਾਰ ਵੱਲੋਂ ਲੌਕਡਾਊਨ ਤੋਂ ਬਾਅਦ ਪੰਜਾਬ ਵਾਪਸ ਆਉਣ ਦੇ ਚਾਹਵਾਨ ਵਿਅਕਤੀਆਂ ਲਈ ਆਪਣੀ ਰਜਿਸਟਰੇਸ਼ਨ ਕਰਨੀ ਲਾਜ਼ਮੀ ਕੀਤੀ ਗਈ ਹੈ ਜਿਸ ਤਹਿਤ ਲੌਕਡਾਊਨ ਖੁੱਲਣ ਤੋਂ ਬਾਅਦ ਪੰਜਾਬ ਆਉਣ ਵਾਲੇ ਪੰਜਾਬ ਦੇ ਕਾਮੇ, ਪੰਜਾਬ ਵਾਸੀ ਜਾ ਕੋਈ ਵੀ ਵਿਅਕਤੀ ਹਵਾਈ, ਰੇਲ ਜਾ ਸੜਕ ਰਾਹੀਂ ਜੇਕਰ ਪੰਜਾਬ ਆਉਣਾ ਚਾਹੁੰਦਾ ਹੈ ਤਾਂ ਉਹ ਪਹਿਲਾਂ ਪੰਜਾਬ ਸਰਕਾਰ ਦੀ ਵੈਬਸਾਈਟ http://covidhelp.punjab.gov.in/ 'ਤੇ ਆਪਣੇ ਆਪ ਨੂੰ ਰਜਿਸਟਰ ਕਰੇਗਾ।ਡਿਪਟੀ ਕਮਿਸ਼ਨਰ ਨੇ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਵੈਬਸਾਈਟ 'ਤੇ ਜਾਕੇ ਫਾਰਮ ਭਰਨ ਤੋਂ ਪਹਿਲਾਂ ਹਦਾਇਤਾਂ ਦਿੱਤੀਆਂ ਗਈਆਂ ਹਨ ਜਿਨ੍ਹਾਂ ਵਿੱਚ ਪੰਜਾਬ ਆਉਣ ਵਾਲੇ ਵਿਅਕਤੀ ਜਾ ਵਿਅਕਤੀਆਂ ਨੂੰ ਕੋਵਿਡ-19 ਤੋਂ ਬਚਾਅ ਲਈ ਸਰਕਾਰ ਵੱਲੋਂ ਜਾਰੀ ਕੀਤੀਆਂ ਗਈਆਂ ਹਦਾਇਤਾਂ ਦੀ ਪਾਲਣਾ ਸਬੰਧੀ ਦੱਸਿਆ ਗਿਆ ਹੈ ਅਤੇ ਰਜਿਸਟਰੇਸ਼ਨ ਫਾਰਮ ਵਿੱਚ ਆਪਣਾ ਪੂਰਾ ਵੇਰਵਾ ਦਰਜ਼ ਕਰਨਾ ਹੋਵੇਗਾ ਅਤੇ ਜੇਕਰ ਇਕ ਵਿਅਕਤੀ ਤੋਂ ਵੱਧ ਵਿਅਕਤੀ ਆ ਰਹੇ ਹਨ ਤਾਂ ਉਨ੍ਹਾਂ ਦਾ ਵੇਰਵਾ ਵੀ ਦੱਸਣਾ ਹੋਵੇਗਾ। ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਪੰਜਾਬ ਆਉਣ ਵਾਲੇ ਵਿਅਕਤੀਆਂ ਨੂੰ ਨਿਯਮਾਂ ਅਨੁਸਾਰ ਕੁਆਰਨਟਾਈਨ ਨਿਯਮ ਦੀ ਵੀ ਪਾਲਣਾ ਕਰਨੀ ਹੋਵੇਗੀ।
ਡਿਪਟੀ ਕਮਿਸ਼ਨਰ ਨੇ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਪੰਜਾਬ ਆਉਣ ਦੇ ਚਾਹਵਾਨ ਆਪਣੇ ਆਪਨੂੰ ਪੰਜਾਬ ਸਰਕਾਰ ਦੀ ਵੈਬਸਾਈਟ http://covidhelp.punjab.gov.in/ 'ਤੇ ਰਜਿਸਟਰ ਕਰਵਾਉਣ ਤਾਂ ਜੋ ਉਨ੍ਹਾਂ ਨੂੰ ਪੰਜਾਬ ਆਉਣ ਸਮੇਂ ਕਿਸੇ ਕਿਸਮ ਦੀ ਮੁਸ਼ਕਲ ਦਾ ਸਾਹਮਣਾ ਨਾ ਕਰਨਾ ਪਵੇ।



दिनांक: 27-04-2020
समय: शाम 9 बजे
1. नमूनों और मामलों का विवरण:-
1 अब तक संदिग्ध मामलों की संख्या 15516
2 जांच के लिए भेजे गए नमूनों की संख्या 15516
3 अब तक पोज़ेटिव पाए गए मरीज़ों की संख्या 330
4 नैगेटिव पाये गए मरीज़ों की संख्या              12333
5 रिपोर्ट का इन्तज़ार है 2853
6 ठीक हुए मरीज़ों की संख्या 98
7 सक्रिय मामले 213
8 मरीज़ों की संख्या जो कि ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं ---
9 मरीज़ जिनकी स्थिति गंभीर है और वैंटिलेटर पर हैं --
10 कुल मौतें 19


दिनांक: 27-04-2020 को कोरोना पॉजि़टिव पाए गए मरीज़ों की संख्या- 8

जि़ला कुल मामले टिप्पणियां

   तरन तारन 5 नया केस
कपूरथला 3 नया केस



संक्रमण का स्रोत पंजाब से बाहर होने की संभावना

दिनांक: 27-04-2020 की रिपोर्ट

नए मरीज़ों की संख्या जो ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं - 00
नए मरीज़ों की संख्या जो आईसीयू में दाखि़ल हैं -00
नए मरीज़ों की संख्या जो वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं - 00
ठीक हुए नए मरीज़ों की संख्या- 12 (01 पटियाला से, 5 अमृतसर से और 6 एसएएस नगर से)
मौत के आए नए मामलों की संख्या -01 पटियाला से



2. पुष्ट मामले:-
क्रम संख्या जि़ला पुष्ट मामले कुल एक्टिव केस ठीक हुए मौतें
1 जालंधर 78 68 7 3
2 एसएएस नगर 63 33 28 2
3 पटियाला 61 58 2 1
4 पठानकोट 25 15 9 1
5 एसबीएस नगर 20 1 18 1
6 लुधियाना 18 8 6 4
7 अमृतसर  14 6 6 2
8 मानसा 13 10 3 0
9 होशियारपुर 7 1 5 1
10 मोगा 4 0 4 0
11 फऱीदकोट 3 2 1 0
12 रोपड़ 3 0 2 1
13 संगरूर 3 1 2 0
14 कपूरथला 6 3 2 1
15 बरनाला 2 0 1 1
16 फतेहगढ़ साहिब 2 0 2 0
17 गुरदासपुर 1 0 0 1
18 मुक्तसर 1 1 0 0
19 फिरोज़पुर 1 1 0 0
20 तरन तारन 5 5 0 0
योग: 330 213 98 19















विजिलेंस विभाग ने कर्फ्यू दौरान जरूरी वस्तुओं को अधिक कीमत पर बेचने से रोकने के उद्देश्य से की कार्रवाइ 

चंडीगढ़, 22 अप्रैलः
पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने आज कर्फ्यू दौरान जरूरी वस्तुओं को अधिक कीमत पर बेचने से रोकने के उद्देश्य के अंतर्गत लुधियाना शहर में अमूल दूध अधिक कीमत पर बेचने वाले दुकानदार को 5000 रुपए का जुर्माना किया है।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए ब्यूरो के प्रवक्ता ने कहा कि प्राप्त जानकारी के आधार पर पता चला कि काला किराना स्टोर, गुरुद्वारा ईशरसर के सामने, बसंत नगर में, न्यू शिमलापुरी, लुधियाना में लोगों को अमूल दूध के पैकेट 49 रुपए की बजाय 50 रुपए में बेच रहा था। ग्राहक प्रदीप सिंह की शिकायत पर कार्यवाही करते हुए इंस्पेक्टर सुरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली विजीलैंस टीम ने किराने की दुकान पर छापा मारा और किराना स्टोर के मालिक द्वारा नियमों का उल्लंघन करने पर कुलदीप सिंह पर कम्पाउंडिंग प्रभार लगाया गया है।
उन्होंने आगे बताया कि खाद्य एवं सिविल सप्लाई और उपभोक्ता मामले विभाग के इंस्पेक्टर अजय सिंह भी छापेमारी करने वाली पार्टी का हिस्सा था। उन्होंने कहा कि किराने की दुकान के मालिक ने दूध के पैकेट अधिक रेट पर बेचकर लीगल मैटरोलाॅजी (पैकेज्ड कमोडिटीज) नियम 2011 के नियम 18(2) का उल्लंघन किया है।

चंडीगढ़, 22 अप्रैल:
पंजाब सरकार ने कोविड-19 महामारी के मद्देनजऱ पवित्र रमज़ान महीने
को सुरक्षित ढंग से मनाने सम्बन्धी एक एडवाईजऱी जारी की है।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि पंजाब सरकार ने मानवीय मेल-जोल के द्वारा इस वायरस को फैलने से रोकने के उद्देश्य से लोगों के स्वतंत्र आवागमन पर पाबंदी लगाई है और जलसा करने पर भी रोक लगा दी है। कोविड-19 महामारी के कारण पैदा हुए इस संकट की स्थिति के दौरान रमज़ान के पवित्र महीने के जश्र मनाने वाले स्थानों पर कुछ ख़ास रोकथाम उपायों के सावधानीपूर्वक पालना करने की आवश्यकता है।
प्रवक्ता ने आगे बताया कि पंजाब सरकार ने मुस्लिम भाईचारे से आग्रह किया है कि वह सभी दिशा-निर्देशों की सावधानीपूर्वक पालना करें, जिसके अंतर्गत सभी मस्जिदों / दरगाहों / इमामबाड़ों और अन्य धार्मिक संस्थाएं बंद रहेंगी और लोगों को जलसा करके नमाज़ें (नमाज़-ए-बाजमात) अदा करने, जुम्मे की नमाज़ समेत तरावीह की नमाज़ अदा करने की मुकम्मल मनाही होगी। लोगों को सलाह दी जाती है कि वह अपने-अपने घरों से ही नमाज़ अदा करें। उन्होंने कहा कि उर्स, पब्लिक और प्राईवेट इफ्तार पार्टियाँ / समारोह, दावत-ए-सेहरी और श्रद्धालुओं की सभा वाले किसी भी अन्य धार्मिक समागम समेत हर किस्म के जश्रों का सख्ती से टाला जाए।
उन्होंने बताया कि मस्जिद परिसर के अंदर जूस, शरबत या खाने-पीने की अन्य चीजों या घर-घर जाकर बाँटी जाने वाली चीजों के सार्वजनिक वितरण पर पूरी तरह पाबंदी है। इसके अलावा खाने-पीने की वस्तुओं की दुकानों / रेहडिय़ों को मस्जिद के नज़दीक लगाने नहीं दिया जाएगा।
प्रवक्ता ने यह भी कहा कि अगर किसी को पहले से ही स्वास्थ्य संबंधी समस्याएँ हैं जैसे कि मधुमेह, हृदय रोग आदि वाले व्यक्तियों को सही डॉक्टरी सलाह के बाद ही रोज़ा रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि मस्जिद में सार्वजनिक संबोधन का प्रयोग केवल स्थानीय अधिकारियों द्वारा किसी किस्म की घोषणा करने के लिए या ज़रूरत पडऩे पर सेहरी के अंत और इफ्तार समय की शुरूआत सम्बन्धी घोषणा के लिए ही किया जाना चाहिए।
उन्होंने कहा कि दिशा-निर्देशों के अनुसार लोगों को घर में ही रहना चाहिए और रिश्तेदारों, मित्रों, पड़ोसियों आदि को इन दिनों के दौरान हर समय किसी अन्य व्यक्ति से कम-से-कम 1 मीटर की दूरी बनाकर देह से दूरी के नियम की पालना करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जश्र मनाने और शुभकामनाएं देने के लिए अन्यों को आलिंगन में लेने और हाथ मिलाने से भी परहेज़ करना चाहिए।
संचार और अभिव्यक्ति के अन्य वैकल्पिक तरीकों संबंधी बताते हुए उन्होंने कहा कि दिल पर हाथ रखना, हाथ लहराना, सिर हिलाना आदि को एक दूसरे को बधाई देने के उद्देश्य के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि लोगों को सलाह दी जाती है कि वह अपने-अपने घरों से ही नमाज़ अदा करें और रमज़ान के दौरान इफ्तार और जश्रों के लिए हर तरह की सामाजिक भीड़ को एकत्र करने से परहेज़ करें। उन्होंने कहा कि मोबाइल और अन्य इलैक्ट्रॉनिक मीडिया को लोगों द्वारा बधाई देने के लिए इस्तेमाल किया जाना चाहिए।
-----------------

ਦੋਸ਼ੀ ਵਿਅਕਤੀ ਅਤੇ ਉਸਦਾ ਸਾਥ ਦੇਣ ਵਾਲੀ ਸਾਲੇਹਾਰ ਨੂੰ ਪੁਲਿਸ ਨੇ ਕੁਝ ਹੀ ਘੰਟਿਆਂ ਵਿੱਚ ਕੀਤਾ ਕਾਬੂ

ਦੋਸ਼ੀਆਂ ਨੂੰ ਵਾਰਦਾਤ ਤੋਂ ਕੁਝ ਸਮੇਂ ਅੰਦਰ ਹੀ ਗ੍ਰਿਫਤਾਰ ਕਰਨ ਵਿੱਚ ਵਿਲੇਜ ਪੁਲਿਸ ਅਫਸਰ ਤੇ ਪਿੰਡ-ਵਾਰਡਵਾਈਜ ਕਮੇਟੀ ਹੋਈ ਸਹਾਇਕ ਸਿੱਧ : SSP

ਮਾਨਸਾ, 20 ਅਪ੍ਰੈਲ (ਅਵਿਨਾਸ਼ ਸ਼ਰਮਾ )
SSP ਮਾਨਸਾ ਡਾ. ਨਰਿੰਦਰ ਭਾਰਗਵ ਨੇ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਥਾਣਾ ਜੋਗਾ ਦੇ ਪਿੰਡ ਅਲੀਸ਼ੇਰ ਕਲਾਂ ਵਿਖੇ ਬੀਤੀ ਰਾਤ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਪੁੱਤਰ ਕਰਨੈਲ ਸਿੰਘ ਵਾਸੀ ਰੂੜੇਕੇ ਕਲਾਂ ਵੱਲੋਂ ਆਪਣੀ ਸਾਲੇਹਾਰ ਸੁਖਪਰੀਤ ਕੌਰ ਨਾਲ ਨਜਾਇਜ ਸਬੰਧਾਂ ਵਿੱਚ ਅੜਿੱਕਾ ਬਣੇ ਆਪਣੇ ਸਹੁਰੇ ਬੰਤਾ ਸਿੰਘ ਪੁੱਤਰ ਬਚਨ ਸਿੰਘ ਵਾਸੀ ਅਲੀਸ਼ੇਰ ਕਲਾਂ ਦਾ ਕਤਲ ਕਰ ਦਿੱਤਾ ਗਿਆ। ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਇਸ ਉਪਰੰਤ ਉਹ ਆਪਣੇ ਸਾਲੇ ਗੁਰਪਰੀਤ ਸਿੰਘ ਦੇ ਕਿਰਚ ਨਾਲ ਮਾਰ ਦੇਣ ਦੀ ਨੀਯਤ ਨਾਲ ਸੱਟਾਂ ਮਾਰਕੇ ਮੌਕੇ ਤੋਂ ਭੱਜ ਗਿਆ। ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਇਸ ਸਾਰੀ ਵਾਰਦਾਤ ਵਿੱਚ ਸੁਖਪਰੀਤ ਕੌਰ ਨੇ ਵੀ ਉਸਦਾ ਸਾਥ ਦਿੱਤਾ ਸੀ। ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਥਾਣਾ ਜੋਗਾ ਦੀ ਪੁਲਿਸ ਵੱਲੋਂ ਕੁਝ ਹੀ ਘੰਟਿਆਂ ਦੇ ਅੰਦਰ ਦੋਨਾਂ ਦੋਸ਼ੀਆ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਅਤੇ ਉਸਦੀ ਸਾਥਣ ਸੁਖਪਰੀਤ ਕੌਰ ਨੂੰ ਗ੍ਰਿਫਤਾਰ ਕਰਨ ਵਿੱਚ ਵੱਡੀ ਸਫਲਤਾ ਹਾਸਲ ਕੀਤੀ ਗਈ ਹੈ।
ਐਸ.ਐਸ.ਪੀ. ਡਾ. ਨਰਿੰਦਰ ਭਾਰਗਵ ਨੇ ਦੱਸਿਆ ਗਿਆ ਕਿ ਥਾਣਾ ਜੋਗਾ ਵਿਖੇ ਮਲਕੀਤ ਕੌਰ ਪਤਨੀ ਬੰਤਾ ਸਿੰਘ ਵਾਸੀ ਅਲੀਸ਼ੇਰ ਕਲਾਂ ਨੇ ਬਿਆਨ ਲਿਖਵਾਇਆ ਕਿ ਉਸਦਾ ਲੜਕਾ ਗੁਰਪਰੀਤ ਸਿੰਘ ਜੋ ਕਰੀਬ 11 ਸਾਲ ਤੋਂ ਸੁਖਪਰੀਤ ਕੌਰ ਪੁੱਤਰੀ ਗੁਰਚਰਨ ਸਿੰਘ ਵਾਸੀ ਝੁਨੀਰ ਨਾਲ ਸ਼ਾਦੀਸ਼ੁਦਾ ਹੈ ਅਤੇ ਉਸਦੀ ਲੜਕੀ ਰਾਣੀ ਕੌਰ ਜੋ ਕਰੀਬ 18-19 ਸਾਲ ਤੋਂ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਪੁੱਤਰ ਕਰਨੈਲ ਸਿੰਘ ਵਾਸੀ ਰੂੜੇਕੇ ਕਲਾਂ ਨਾਲ ਸ਼ਾਦੀਸ਼ੁਦਾ ਹੈ। ਉਸਦੀ ਨੂੰਹ ਸੁਖਪਰੀਤ ਕੌਰ ਦੇ ਕਰੀਬ 4 ਸਾਲ ਤੋਂ ਉਸਦੇ ਜਵਾਈ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਨਾਲ ਨਜਾਇਜ ਸਬੰਧ ਚੱਲੇ ਆ ਰਹੇ ਹਨ। ਜਿਨ੍ਹਾਂ ਨੂੰ ਪਰਿਵਾਰਕ ਮੈਂਬਰਾਂ ਅਤੇ ਰਿਸ਼ਤੇਦਾਰਾਂ ਨੇ ਬਹੁਤ ਸਮਝਾਇਆ ਪਰ ਉਹ ਨਹੀ ਹਟੇ। ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਉਸਦਾ ਜਵਾਈ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਧਮਕੀਆ ਦਿੰਦਾ ਸੀ ਅਤੇ ਉਸਦੀ ਨੂੰਹ ਸੁਖਪਰੀਤ ਕੌਰ ਵੀ ਉਸਦਾ ਸਾਥ ਦਿੰਦੀ ਸੀ।
ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਬੀਤੀ ਰਾਤ ਕਰੀਬ 11.30 ਵਜੇ ਉਸਦਾ ਜਵਾਈ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਮੋਟਰਸਾਈਕਲ 'ਤੇ ਸਵਾਰ ਹੋ ਕੇ ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੇ ਘਰ ਆਇਆ, ਤਾਂ ਉਸਦੇ ਲੜਕੇ ਨੇ ਉਸਨੂੰ ਘਰ ਆਉਣ ਤੋਂ ਵਰਜਿਆ। ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਫਿਰ ਉਸਦੇ ਜਵਾਈ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਅਤੇ ਉਸਦੇ ਲੜਕੇ ਗੁਰਪਰੀਤ ਸਿੰਘ ਵਿੱਚਕਾਰ ਤੂੰ-ਤੂੰ, ਮੈ-ਮੈ ਹੋ ਗਈ, ਉਸਦੇ ਜਵਾਈ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਦਾ ਸਾਥ ਕੋਲ ਖੜੀ ਉਸਦੀ ਨੂੰਹ ਸੁਖਪਰੀਤ ਕੌਰ ਨੇ ਦਿੱਤਾ। ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਫਿਰ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਨੇ ਮਾਰ ਦੇਣ ਦੀ ਨੀਯਤ ਨਾਲ ਦਸਤੀ ਕਿਰਚ ਦੇ ਵਾਰ ਉਸਦੇ ਲੜਕੇ ਦੀ ਛਾਤੀ ਅਤੇ ਪੇਟ 'ਤੇ ਕੀਤੇ ਅਤੇ ਜਦ ਬਚਾਓ ਲਈ ਉਸਦਾ ਘਰਵਾਲਾ ਬੰਤਾ ਸਿੰਘ ਅੱਗੇ ਵਧਿਆ ਤਾਂ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਨੇ ਕਿਰਚ ਉਸਦੇ ਪੇਟ ਵਿੱਚ ਮਾਰੀ ਅਤੇ ਸੱਟਾਂ ਮਾਰ ਕੇ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਮੋਟਰਸਾਈਕਲ 'ਤੇ ਸਵਾਰ ਹੋ ਕੇ ਸਮੇਤ ਹਥਿਆਰ ਮੌਕੇ ਤੋਂ ਭੱਜ ਗਿਆ। ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਉਸਦੇ ਪਤੀ ਬੰਤਾ ਸਿੰਘ ਦੀ ਮੌਕੇ 'ਤੇ ਹੀ ਮੌਤ ਹੋ ਗਈ ਅਤੇ ਉਸਦੇ ਲੜਕੇ ਗੁਰਪਰੀਤ ਸਿੰਘ ਨੂੰ ਇਲਾਜ ਲਈ ਦਾਖਲ ਕਰਵਾਇਆ ਗਿਆ ਹੈ।
ਐਸ.ਐਸ.ਪੀ. ਨੇ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਰੰਜਿਸ਼ ਦਾ ਕਾਰਨ ਇਹ ਸੀ ਕਿ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਅਤੇ ਸੁਖਪਰੀਤ ਕੌਰ ਆਪਣੇ ਨਜਾਇਜ ਸਬੰਧਾਂ ਵਿੱਚ ਅੜਿੱਕਾ ਬਣੇ ਆਪਣੇ ਸਾਲੇ ਗੁਰਪਰੀਤ ਸਿੰਘ ਅਤੇ ਸਹੁਰੇ ਬੰਤਾ ਸਿੰਘ ਨੂੰ ਰਸਤੇ ਤੋਂ ਹਟਾਉਣਾ ਚਾਹੁੰਦੇ ਸੀ। ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਮੁਦੈਲਾ ਦੇ ਬਿਆਨ 'ਤੇ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਅਤੇ ਸੁਖਪਰੀਤ ਕੌਰ ਦੇ ਵਿਰੁੱਧ ਮੁਕੱਦਮਾ ਨੰਬਰ 34 ਮਿਤੀ 20-04-2020 ਅ/ਧ 302,307,34 ਹਿੰ:ਦੰ: ਥਾਣਾ ਜੋਗਾ ਵਿਖੇ ਦਰਜ਼ ਰਜਿਸਟਰ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਹੈ।
ਸ਼੍ਰੀ ਸੱਤਪਾਲ ਸਿੰਘ ਡੀ.ਐਸ.ਪੀ.(ਫੋਰੈਸਿੰਕ ਸਾਇੰਸ ਅਤੇ ਹੋਮੀਸਾਈਡ) ਮਾਨਸਾ ਦੀ ਨਿਗਰਾਨੀ ਹੇਠ ਵੱਖ-ਵੱਖ ਪੁਲਿਸ ਟੀਮਾਂ ਬਣਾ ਕੇ ਦੋਸ਼ੀਆਂ ਨੂੰ ਗ੍ਰਿਫਤਾਰ ਕਰਨ ਲਈ ਰਵਾਨਾ ਕੀਤੀਆਂ ਗਈਆਂ ਅਤੇ ਮੁਕੱਦਮੇ ਦੀ ਵਿਗਿਆਨਕ ਢੰਗ ਤਰੀਕਿਆਂ ਨਾਲ ਤਫਤੀਸ ਆਰੰਭ ਕੀਤੀ ਗਈ। ਇਲਾਕੇ ਵਿੱਚ ਘੁੰਮ ਰਹੇ ਦੋਸ਼ੀ ਨੂੰ ਗ੍ਰਿਫਤਾਰ ਕਰਨ ਵਿੱਚ ਮਾਨਸਾ ਪੁਲਿਸ ਵੱਲੋਂ ਵਿਲੇਜ ਪੁਲਿਸ ਅਫਸਰ ਅਤੇ ਪਿੰਡ-ਵਾਰਡ ਕਮੇਟੀ ਸਕੀਮ ਬਹੁਤ ਲਾਹੇਵੰਦ ਸਿੱਧ ਹੋਈ, ਜਿਨ੍ਹਾਂ ਦੀ ਸਹਾਇਤਾ ਨਾਲ ਪੁਲਿਸ ਵੱਲੋਂ ਦੋਸ਼ੀ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਤੱਕ ਪਹੁੰਚ ਕਰਕੇ ਉਸਨੂੰ ਕੁਝ ਹੀ ਸਮੇਂ ਅੰਦਰ ਸਮੇਤ ਉਸਦੀ ਸਾਥਣ ਸੁਖਪਰੀਤ ਕੌਰ ਨੂੰ ਉਸਦੇ ਘਰ ਵਿੱਚੋ ਗ੍ਰਿਫਤਾਰ ਕਰਕੇ ਦੋਸ਼ੀ ਬਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਵੱਲੋਂ ਵਰਤਿਆ ਗਿਆ ਮੋਟਰਸਾਈਕਲ ਅਤੇ ਆਲਾਜਰਬ ਹਥਿਆਰ (ਕਿਰਚ) ਨੂੰ ਪੁਲਿਸ ਵੱਲੋਂ ਕਬਜ਼ੇ ਵਿੱਚ ਲੈ ਲਿਆ ਗਿਆ। ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਦੋਨਾਂ ਦੋਸ਼ੀਆਂ ਨੂੰ ਅਦਾਲਤ ਵਿੱਚ ਪੇਸ਼ ਕਰਕੇ ਪੁਲਿਸ ਰਿਮਾਂਡ ਹਾਸਲ ਕੀਤਾ ਜਾਵੇਗਾ ਅਤੇ ਹੋਰ ਡੂੰਘਾਈ ਨਾਲ ਪੁੱਛਗਿੱਛ ਕੀਤੀ ਜਾਵੇਗੀ। ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਮੁਕੱਦਮੇ ਦੀ ਤਫਤੀਸ ਜਾਰੀ ਹੈ।  


हॉटस्पॉट ऐलान किए गए जिले के सिविल सर्जन ने अदृश्य दुश्मन कोरोना के विरुद्ध बेख़ौफ होकर लड़ाई के लिए कमर कसी

दृढ़ और साझे यत्नों से स्थिति काबू में आने की उम्मीद 

चंडीगढ़, 19 अप्रैल:
मोहाली, राज्य का पहला ऐसा जि़ला था जिसको आने वाले दिनों संबंधी पहले ही जानकारी मिल गई थी। जि़ला स्वास्थ्य विभाग ने लोगों को अन्यों से पहले कोरोनावायरस के ख़तरे संबंधी जागरूक कर दिया था। इसके अंतर्गत 23 जनवरी को एक एडवाईजऱी जारी की गई थी, जिसमें नागरिकों को कोरोनावायरस के रूप में निकट भविष्य में आ रही बड़ी मुसीबत से दूर रहने के लिए सावधानी और परहेज़ अपनाने के लिए अपील की गई थी।
स्वास्थ्य मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू की हिदायतों की पालना करते हुए 23 जनवरी को वह जि़ला महामारी विज्ञानी हरमनदीप कौर और अन्य स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ मिलकर मोहाली अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुँचे और हवाई अड्डे के अधिकारियों के साथ एक मुकम्मल मुलाकात की, जो इस ख़तरे से अंजान थे। डॉ. मनजीत सिंह ने इस नई किस्म की बीमारी संबंधी विस्तारपूर्वक जानकारी दी और हवाई अड्डे के अधिकारियों को चीन की यात्रा करके आने वाले यात्रियों की जाँच शुरू करने और हवाई अड्डे पर आईसोलेशन वॉर्ड स्थापित करने के लिए कहा। स्वास्थ्य मंत्री के निर्देशों पर उसी समय जि़ला स्वास्थ्य विभाग ने हवाई अड्डे पर स्क्रीनिंग प्रक्रिया शुरू कर दी थी।
उस समय देश के किसी भी हिस्से से इस जानलेवा बीमारी का कोई पुख्ता मामला सामने नहीं आया था। वह महामारी के कथित मूल, चीन में कोरोनावायरस के बढ़ रहे प्रकोप पर तीखी नजऱ रख रहे थे। आँखों के एक माहिर और 30-32 सालों से अधिक का तजुर्बा रखने वाले डॉक्टर ने आने वाली मुश्किल घड़ी और चुनौतियों भरे समय को भाँप लिया था।
स्वास्थ्य मंत्री की निगरानी में हमने जनवरी में ही एक संभावित मुश्किल स्थिति से निपटने के लिए अपने आप को तैयार करना शुरू कर दिया था। सभी जि़ला स्वास्थ्य अधिकारियों को ज़रुरी प्रबंध करने के लिए निर्देश जारी किए गए थे। जब मोहाली में पहला कोरोनावायरस का मामला सामने आया, तो मैं डरा और घबराया नहीं, बल्कि इस अदृश्य दुश्मन का मुकाबला करने के लिए डट गया। सबसे अधिक मामलों के कारण सरकार ने हाल ही में मोहाली को एक हॉटस्पॉट जि़ला घोषित किया है, परन्तु डॉक्टर मनजीत सिंह जो ख़ुद कैंसर से ठीक हुए मरीज़ हैं, उनका ऊँचा मनोबल और मज़बूत इच्छाशक्ति के साथ उन्हें उम्मीद है कि जल्द ही वह इस बीमारी को और फैलने से रोकने में सफल हो जाएंगे। एक मृदुभाषी और उच्च आचरण वाले डॉ. मनजीत सिंह का कहना है कि चाहे हमें अन्य जिलों की अपेक्षा और ज्य़ादा चुनौतीपूर्ण स्थिति का सामना करना पड़ रहा है, फिर भी हम आशा करते हैं कि हमारी स्वास्थ्य टीमों के सख्त और निरंतर यत्नों और लोगों के सहयोग से अच्छे नतीजे सामने आऐंगे और बहुत जल्द स्थिति सामान्य हो जाएगी।

अग्रणी कतार में डटे पुलिसकर्मियों के लिए साप्ताहिक छुट्टी /आराम देने के लिए निर्देशों का सख्ती से पालना करने के आदेश


अग्रणी कतार में डटे पुलिसकर्मियों की सुरक्षा के लिए राज्य सरकार से 4050 पीपीई किटों और 18000 एन-95 मास्कों की मांग

चंडीगढ़, 19 अप्रैल:
पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने रविवार को कोविड -19 के खिलाफ ड्यूटी पर लगे पुलिसकर्मियों के लिए कई सुरक्षा और कल्याण उपायों की घोषणा की और 55 साल से अधिक उम्र के पुलिस मुलाजि़मों की तैनाती या डॉक्टरी इलाज अधीन मुलाजि़मों को तैनात न करने के आदेश दिए हैं।
उन्होंने अगली कतार में डटे पुलिसकर्मियों की साप्ताहिक छुट्टी /आराम के दिनों का सख्ती से पालना करने के आदेश भी दिए। डीजीपी ने सभी पुलिस कमिश्नरों और एस.एस.पीज़. को हिदायत की कि वह अग्रणी कतार में डटे पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक छुट्टी / आराम देने के लिए रोटेशनल प्रणाली का पालन करें, तैनाती का प्रबंध इस विधि से किया जाए कि सभी कर्मचारियों को 10 दिन बाद दो दिन का आराम दिया जा सके।
उन्होंने यह भी हिदायत की कि 55 साल से अधिक उम्र के पुलिस मुलाजि़मों या वह मुलाजि़म जो पहले से ही चिकित्सा जोखि़मों जैसे हाईपरटैंशन, दिल के रोग, दमा या जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता सही ना हो, को जहाँ तक संभव हो सके किसी भी कारण से अग्रणी कतार पर तैनात नहीं किया जाना चाहिए।
इन पुलिस मुलाजि़मों की सुरक्षा को यकीनी बनाने के लिए डीजीपी ने मुख्य सचिव को विनती की है कि वह राज्य के स्वास्थ्य विभाग को तुरंत कम-से-कम 4050 पीपीई किटें /सूट और 18000 एन-95 मास्क मुहैया करने के लिए निर्देश दें। श्री गुप्ता ने कहा कि इस समय कुछ पीपीई सूट पहले ही पुलिस विभाग के पास उपलब्ध हैं, जो संवेदनशील कार्यों के दौरान इस्तेमाल की जा रही हैं। डीजीपी ने कहा कि हालाँकि हॉटस्पॉट, कंटेनमैंट ज़ोन, समूहों, विभिन्न वॉर्डों, कोविड अस्पतालों (स्तर 1-2-3) पर तैनात पुलिस अधिकारियों को पीपीई किटों की ज़रूरत है, जो केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रमानित हों। उन्होंने आगे कहा कि जिन पुलिस मुलाजि़मों को कोरोनवायरस के पुष्ठ मामलों या संदिग्ध मरीज़ों के संपर्क में आना पड़ता है, वहां उनको डीब्रिफिंग करने के समय, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और तबलीग़ी जमात के मामलों की निगरानी आदि करने के लिए भी ऐसी पीपीई किटों की ज़रूरत होती है।
डीजीपी ने कहा कि पुलिस फोर्स के पास इस समय 2.5 लाख फेस मास्क, 81000 दस्ताने, 136000 हैंड सैनीटाईजऱ और 20100 साबुन /हैंड वॉश हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस मुलाजि़मों की पूरी सुरक्षा को यकीनी बनाने के लिए सभी यत्न किए जा रहे हैं। जि़क्रयोग्य है कि लुधियाना का एक एसीपी पहले ही कोविड -19 संक्रमण का शिकार हो गया है।
कोविड -19 के दौरान पुलिस कर्मचारियों की ड्यूटियां निभाने के लिए कल्याण के उपायों की सूची देते हुए डीजीपी ने कहा कि उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए, मल्टी-विटामिन की तकरीबन 1.36 लाख गोलियाँ पुलिस में बाँटी गई हैं। पुलिस मुलाजि़मों को पौष्टिक, सेहतमंद और अपेक्षित ख़ुराक भी मुहैया करवाई जा रही है, जिससे कोरोनवायरस का सामना करने वाले लोगों के जोखि़म को कम किया जा सके और नींद और आराम की कमी के कारण कम हुई रोग प्रतिरोधक क्षमता के ख़तरे का सामना भी किया जा सके।
श्री गुप्ता ने कहा कि अब तक तकरीबन 12 लाख फूड पैकेट और 1.35 लाख बिस्कुटों के पैकेट बाँटे जा चुके हैं और सभी सी.पीज़ और एस.एस.पीज़ ने जगह-जगह पके हुए भोजन की व्यवस्था करने के उचित प्रबंध किए हैं।
डीजीपी ने आगे खुलासा किया कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने पुलिस फोर्स को जगह-जगह पर खाने के पैकेट मुहैया करवाने के लिए 3 करोड़ रुपए मंज़ूर किये थे, जो कि पहले ही सभी जिलों को दो किस्तों में बाँट चुके हैं। कफ्र्यू में 3 मई तक की वृद्धि के मद्देनजऱ, डीजीपी ने कहा कि विभाग ने इसके लिए और फंड माँगे हैं।
डीजीपी ने आगे कहा कि सभी चैक प्वाइंट्स जो विभिन्न जिलों के एंट्री/एग्जि़ट प्वाइंट्स पर लगाए गए हैं, को टैंट और अन्य प्राथमिक सुविधाएं दी गई हैं। इस मंतव्य के लिए नए टैंट भी खऱीदे गए हैं। गर्मी से बुनियादी सुरक्षा प्रदान करने के लिए जिलों के महत्वपूर्ण चैक प्वाइंट्स पर बड़े छाते लगाए गए हैं।
जि़क्रयोग्य है कि राज्य में कफ्र्यू लागू करने, खाने-पीने, ज़रूरी वस्तुओं की सप्लाई और दवाओं के वितरण को यकीनी बनाने के अलावा राज्य के विभिन्न जिलों में 43000 से 48000 के करीब पंजाब पुलिस के जवान तैनात किये गए हैं, इसके अलावा हेल्पलाइन नं. 112 और कोविड हेल्पलाईन नंबर जारी किए गए हैं।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, पंजाब
मीडिया बुलेटिन: कोविड-19
दिनांक: 19-04-2020
समय: शाम 6 बजे
1. नमूनों और मामलों का विवरण:-
1 अब तक संदिग्ध मामलों की संख्या 6607
2 जांच के लिए भेजे गए नमूनों की संख्या 6607
3 अब तक पोज़ेटिव पाए गए मरीज़ों की संख्या 244
4 नैगेटिव पाये गए मरीज़ों की संख्या              5949
5 रिपोर्ट का इन्तज़ार है 414
6 ठीक हुए मरीज़ों की संख्या 37
7 सक्रिय मामले 191
8 मरीज़ों की संख्या जो कि ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं 01
आईसीयू में भर्ती मरीज़ों की संख्या 00
9 मरीज़ जिनकी स्थिति गंभीर है और वैंटिलेटर पर हैं 00
10 कुल मौतें 16


दिनांक 19-04-2020 को कोरोना पॉजि़टिव पाए गए मरीज़ - 10
जि़ला कुल मामले टिप्पणियां

एसएएस नगर 04 कोरोना पॉजि़टिव केस के संपर्क वाले
जालंधर   06 05-कोरोना पॉजि़टिव केस के संपर्क वाले
01-नया केस





दिनांक 19-04-2020 की रिपोर्ट

नए मरीज़ों की संख्या जो ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं - 00
नए मरीज़ों की संख्या जो आईसीयू में दाखि़ल हैं -00
नए मरीज़ों की संख्या जो वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं - 00
ठीक हुए नए मरीज़ों की संख्या-06 (1-बरनाला से, 1-फरीदकोट से, 1-अमृतसर से, 1-होशियारपुर से, और 2- एसएएस नगर से)
मौतों के आए नए मामलों की संख्या -00

2. पुष्ट मामले:-
क्रम   जि़ला मामले ठीक हुए मौतें
1 एसएएस नगर 61 8 2
2 जालंधर 47 4 2
3 पटियाला 26 1 0
4 पठानकोट 24 0 1
5 एसबीएस नगर 19 16 1
6 लुधियाना 16 1 4
7 अमृतसर  11 1 2

8 मानसा 11 0 0
9 होशियारपुर 07 4 1
10 मोगा 04 0 0
11 फऱीदकोट 03 1 0
12 रोपड़ 03 0 1
13 संगरूर 03 0 0
14 बरनाला 02 1 1
15 फतेहगढ़ साहिब 02 0 0
16 कपूरथला 02 0 0
17 गुरदासपुर 01 0 1
18 मुक्तसर 01 0 0
19 फिरोज़पुर 01 0 0
योग: 244 37 16










CM  द्वारा डिप्टी कमिश्नरों को कर्फ्यू  की बन्दिशों की सख्ती से पालना करवाने के आदेश

कोविड मुक्त खऱीद प्रक्रिया को यकीनी बनाने के लिए मंडियों का स्वास्थ्य ऑडिट कराने के आदेश

अगला कदम उठाने से पहले 3 मई को स्थिति का फिर जायज़ा लेगी राज्य सरकार

चंडीगढ़, 19 अप्रैल:
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज गेहूँ की कोविड मुक्त खरीद प्रक्रिया को यकीनी बनाने से अलावा राज्य में 3 मई तक किसी किस्म की ढील देने को रद्द कर दिया है। 3 मई को स्थिति का एक बार फिर जायज़ा लिया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने डिप्टी कमिश्नरों को सभी जि़लों में कफ्र्यू की सख्ती से पालना करवाने के आदेश दिए। इस सप्ताह शुरू हो रहे रमज़ान के अरसे के दौरान किसी भी किस्म की ढील या छूट ना दी जाए। उन्होंने स्पष्ट किया कि रमज़ान के लिए लोगों को कोई भी विशेष कफ्र्यू पास जारी नहीं किए जाने चाहिए। मुख्यमंत्री ने डिप्टी कमिश्नरों को आदेश दिए कि इस समय के दौरान किराना और अन्य ज़रूरी वस्तुओं की दुकानों पर भीड़ एकत्रित न होने को यकीनी बनाने के अलावा देह से दूरी के नियमों की सख्ती से पालना करवाने के लिए ठोस कदम उठाए जाएँ।
मुख्यमंत्री ने सिविल और पुलिस प्रशासन के सीनियर अधिकारियों के साथ मौजूदा स्थिति का जायज़ा लेने के उपरांत यह फ़ैसला लिया।
एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि यह फ़ैसला केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा देश में 20 अप्रैल से ग़ैर-सीमित वाले ऐलाने गए ज़ोनों के लिए ढील देने के पृष्टभूमि में महत्व को स्वीकार करता है। हालाँकि ज़मीनी हकीकत संबंधी विचार-विमर्श करते हुए मुख्यमंत्री का दृढ़ विचार है कि उनकी सरकार द्वारा गेहूँ की कटाई और खरीद कार्यों के साथ-साथ विभिन्न औद्योगिक /भट्टे और निर्माण गतिविधियां, जहाँ प्रवासी मज़दूरों के रहने की व्यवस्था है, से सम्बन्धित पहले किए गए ऐलानों को छोडक़र कोई ढील नहीं दी जानी चाहिए।
मंडियों में सफ़ाई की स्थिति न होने की चिंताओं के मद्देनजऱ मुख्यमंत्री ने इन केन्द्रों के सेहत ऑडिट करने के आदेश दिए, जहाँ 1.85 लाख मीट्रिक टन गेहूँ जून तक आने की संभावना है, जब तक खरीद पूरी नहीं हो जाती। इस पर करीब 35,000 करोड़ रुपए का ख़र्च आएगा, जिसमें राज्य को केंद्र द्वारा सी.सी.एल. भुगतान के लिए मिले 26,000 करोड़ रुपए शामिल हैं। इससे कोविड -19 के खि़लाफ़ लड़ाई प्रभावशाली ढग़ से लडऩे के लिए बड़ी मदद मिलेगी।
सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने साफ़ कर दिया कि इस समय सभी कोशिशें जि़ंदगी बचाने के लिए केंद्रित कर दी जानी चाहीए और कोविड -19 मुक्त माहौल में निर्विघ्न और सुचारू खरीद प्रबंध किए जाएँ। आने वाले समय के लिए कोई भी फ़ैसला 3 मई के बाद लिया जाएगा, जो कि उस समय की स्थिति को ध्यान में रखते हुए राज्य को इस स्थिति से बाहर निकालने के लिए बनाई गई माहिरों की कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर लिया जाएगा। संभावना है कि यह कमेटी अपनी रिपोर्ट अगले हफ्ते देगी।
इसी दौरान मुख्यमंत्री के दिशा-निर्देशों पर अमल करते हुए राज्य के सभी डिप्टी कमिश्नरों द्वारा अपने-अपने जि़लों में कफ्र्यू को सख्ती से लागू करने के लिए अलग नोटीफिकेशन जारी किए जा रहे हैं। इन नोटीफिकेशनों के अनुसार आदेशों का उल्लंघन करने वालों के खि़लाफ़ आपदा प्रबंधन कानून 2005 और आई.पी.सी. 1860 की सम्बन्धित धाराओं के अंतर्गत आपराधिक केस दर्ज किए जाएंगे।
-------------------

चंडीगढ़, 18 अप्रैल:
पंजाब पुलिस ने शनिवार को एसएचओ खन्ना, इंस्पेक्टर बलजिन्दर सिंह के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही शुरु कर दी है और उक्त अधिकारी के तुरंत तबादले के आदेश दिए हैं।
बलजिन्दर सिंह के विरुद्ध पिछले साल अपने थाने में तीन व्यक्तियों को कथित तौर पर नंगा करने के इल्ज़ाम लगे थे।
डीजीपी दिनकर गुप्ता के आदेशों के बाद लुधियाना रेंज के आईजीपी जसकरन सिंह द्वारा प्राथमिक जांच के बाद एसएचओ के विरुद्ध दोषों को सही पाया गया। जि़क्रयोग्य है कि कथित घटना का एक वीडियो हाल ही में सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।
गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया एस.एच.ओ. बलजिन्दर सिंह (267/ पी.आर.) को तुरंत प्रभाव से लुधियाना रेंज (पुलिस जि़ला खन्ना) से फिऱोज़पुर रेंज में तबादला कर दिया गया है। उक्त के खि़लाफ़ बाकायदा विभागीय जांच भी आरंभ की जा चुकी है और इसकी रिपोर्ट मिलने के बाद ही अगली कार्यवाही की जाएगी।
डीजीपी ने दोहराते हुए कहा कि फोर्स ने ऐसी घटनाओं के प्रति ज़ीरो टॉलरैंस नीति अपनाई है और ऐसी अनियमितताओं को किसी भी हालात में माफ नहीं किया जाएगा।
गुप्ता के अनुसार प्राथमिक जांच के दौरान आईजीपी लुधियाना रेंज ने शिकायतकर्ता के दोषों की पैरवी की और एस.एच.ओ. के विरुद्ध थाना सदर खन्ना में दर्ज आईपीसी की धारा 447 /511 /379 /506 /34 के अंतर्गत दर्ज एफआईआर नंबर 134 तारीख़ 13.06.2019 की पड़ताल और जांच भी की।
जि़क्रयोग्य है कि डीजीपी द्वारा 16 अप्रैल को सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक वीडियो-क्लिप वायरल होने के बाद आईजीपी जसकरन सिंह को तथ्यों पर आधारित जांच करने की जि़म्मेदारी सौंपी गई थी।  


कोविड-19 से निपटने के लिए केंद्र से फंड आने की बात पर लगाई फटकार, कहा- केंद्रीय मंत्री झूठ बोलना बंद करें

चंडीगढ़, 18 अप्रैल:
केंद्रीय मंत्री द्वारा लोगों को गुमराह करने वाले दिए बयान पर बरसते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने शनिवार को हरसिमरत कौर बादल द्वारा कोविड -19 से निपटने के लिए केंद्र द्वारा राज्य को राहत देने के दावे को सिरे से ख़ारिज कर दिया।
हरसिमरत कौर बादल के ट्वीट, जिसमें दावा किया गया था कि पंजाब को कोविड -19 संकट से लडऩे के लिए केंद्र से फंड और अनुदान मिले हैं, के जवाब में कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा, ‘‘आपकी सूचना बिल्कुल गलत है।’’
मुख्यमंत्री ने हरसिमरत बादल की टिप्पणियों को उसकी आदतन झूठ बोलने और अपने ही राज्य के मूल तथ्यों संबंधी जानकारी न होने वाली करार देते हुए कहा, ‘‘राज्य को केंद्र सरकार से कोविड -19 के खि़लाफ़ निपटने के लिए कोई पैसा नहीं मिला।’’
मुख्यमंत्री ने कहा कि वह अपना मुँह खोलने से पहले तथ्यों को जांच कर लिया करें। उन्होंने कहा कि अपने केंद्रीय मंत्री के पद को अपने राज्य की मदद के लिए बरतने की बजाय हरसिमरत शर्मनाक तरीके से ओछी राजनीति के लिए झूठ का कोलाहल मचा रही है।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने अकाली नेताओं को कहा, ‘‘आपको ऐसे बड़े संकट वाले मुद्दे पर झूठ बोलने के लिए शर्मिंदा होना चाहिए।’’ उन्होंने कहा कि इस समय पर जब पंजाब समेत देश भर में सभी पार्टियाँ अपने पार्टी हितों से ऊपर उठकर इस अनिर्धारित संकट से लडऩे के लिए हाथ मिला रही हैं, वहीं हरसिमरत अपने राजसी एजंडे को आगे बढ़ाने के लिए यह सब कुछ कर रही है।
मुख्यमंत्री ने इस संकट के समय हरसिमरत पर राज्य सरकार को सहयोग देने की बजाय सरकार की कोशिशों को कमज़ोर करने के लिए आड़े हाथों लेते हुए कहा, ‘‘आप वहां बैठे क्या कर रहे हो, अगर आप पंजाब और पंजाब के लोगों के लिए नहीं लड़ सकते?’’
हरसिमरत बादल के झूठ के राज़ खोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जो उनकी तरफ से 2366 करोड़ रुपए का जि़क्र किया गया है वह जी.एस.टी. के हिस्से के तौर पर राज्य का बकाया पैसा था। यहाँ तक कि अभी भी राज्य का 4400 करोड़ रुपए केंद्र सरकार के पास बकाया पड़ा है। उन्होंने कहा, ‘‘आप कोविड की जंग के लिए अपेक्षित राहत पैकेज लेना तो दूर बल्कि हमें हमारे बकाए भी नहीं दिला सके।’’
मुख्यमंत्री ने कहा कि हरसिमरत बादल द्वारा अपने ट्वीट में जो बाकी राशि का जि़क्र किया गया है वह भी राज्य के आम बकाए हैं, जिनका कोविड -19 की जंग से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने अकाली नेता द्वारा इस कठिन समय में पंजाब के लिए कोई हिमायत जुटाने की नाकामियों पर पर्दा डालने के लिए इस कद्र झूठ बोलने पर दुख ज़ाहिर किया।
मुख्यमंत्री ने बताया कि हरसिमरत द्वारा 10,000 टन दालें देने के किये दावों के उलट राज्य को अब तक सिफऱ् 42 टन दालें प्राप्त हुई हैं, जिसको राज्य की ज़रूरत के मुताबिक मज़ाक ही कहा जा सकता है। उन्होंने याद करवाते हुए कहा कि उन्होंने ख़ुद सुझाव दिया था कि केंद्र सरकार को सभी राज्यों में गरीबों के लिए छह महीनों के राशन का बंदोबस्त करना चाहिए।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि यहाँ तक कि रबी की फ़सल के भंडारण के लिए जगह खाली करने के लिए पंजाब से अतिरिक्त अनाज उठाने में तेज़ी लाने के दिए सुझाव पर भी केंद्र ने कोई ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा, ‘‘केंद्र अनाज को सड़ते रहने को प्राथमिकता देता है और मुल्क के गरीबों और जरूरतमंद लोगों का पेट भरने के लिए अनाज बरतने की बजाय अनाज सडऩे से होने वाले घाटे की भरपाई का बोझ भी राज्य सरकार के ऊपर डाल दिया जाता है।’’
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड -19 के लिए राहत पैकेज तो एक तरफ़ रहा, केंद्र सरकार ने तो मुलाजि़मों के लिए बीमा और किसानों के लिए बकाए बोनस का निपटारा तक नहीं किया।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने हरसिमरत बादल द्वारा इस मुद्दे पर राजनीति खेलने और केंद्र में हिस्सेदार अकाली दल की नाकामी से लोगों का ध्यान हटाने की घटिया कोशिशें करने की निंदा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि मौजूदा संकट में लोगों को राहत मुहैया करवाने के लिए राज्य सरकार के यत्नों के प्रति कोई भी योगदान डालने में उनकी पार्टी असफल रही है।

चंडीगढ़,17 अप्रैल:
पंजाब राज्य में आज गेहूँ की खरीद प्रक्रिया के तीसरे दिन 1,48,221 मीट्रिक टन खऱीद की गई, जिसमें सरकारी एजेंसियों द्वारा 1,45,264 और आढतियों द्वारा 2,957 मीट्रिक टन गेहूँ की खऱीद की गई है।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए पंजाब के खाद्य एवं सिविल सप्लाई विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि राज्य में 1,45,264 मीट्रिक टन गेहूँ की खऱीद सरकारी एजेंसियों द्वारा की गइी है, जिसमें पनग्रेन द्वारा 35,677 मीट्रिक टन, मार्कफैड्ड द्वारा 36,542 मीट्रिक टन और पनसप द्वारा 31,874 मीट्रिक टन गेहूँ खऱीदी गई है, जबकि पंजाब स्टेट वेयरहाऊसिंग कोर्पोरेशन द्वारा 22,171 मीट्रिक टन गेहूँ खऱीदी गई है। 
केंद्र सरकार की एजेंसी एफ.सी.आई. द्वारा 10,589 मीट्रिक टन गेहूँ खऱीदी गई है।
इसके अलावा पनग्रेन द्वारा पंजाब में सार्वजनिक वितरण के लिए मीट्रिक टन गेहूँ भी खऱीदी गई है।
प्रवक्ता ने बताया कि खरीद प्रक्रिया के तीसरे दिन अब तक राज्य में कुल 1,87,417 मीट्रिक टन गेहूँ खरीदी जा चुकी है।


गढ़दीवाला, 16 अप्रैल (मनप्रीत सिंह ): कोरोना वायरस के चलते जहां सरकार ज़रूरतमंदों की सहायता के लिए काम कर रही हैं और साथ ही विभिन्न सामाजिक संगठन और धार्मिक संस्थाओं की तरफ से खाने पीने की वस्तुएं, सुखा राशन और यहाँ तक कि दो
समय का खाना बना कर भी जरूरतमन्दों तक पहुंचाया जा रहा है। वहीं गढ़दीवाला का थम्मन परिवार भी ज़रूरतमन्दों की सहायता के लिए आगे आया है और अलग-अलग गाँवों में पहुँच करके हज़ारों की संख्या में ज़रूरतमंदों के लिए दवाईओं का लंगर लगा कर उनको निशुल्क दवाइयां बांटी जा रही है। यह मानवता की सेवा का कार्य थम्मन क्लीनिक के प्रमुख डा. मोहन लाल थम्मण का नेतृत्व में उन के दोनों सपुत्रों डाक्टर अजय थम्मन और डाक्टर अभिषेक थम्मन पूरे स्टाफ की सहायता के साथ जहाँ 24 घंटे अपनी क्लीनिक पर दिन रात लोग सेवा निभा रहे हैं वहां ही समाज सेवा के इस कार्य में गाँव -गाँव जा कर मुफ़्त दवाइयां देकर योगदान दिया जा रहा है। इस संबंधी जानकारी देते हुए डा. अजय थम्मन ने बताया कि गांव बाहला में बहन अंजू बाला, लक्की राय, शाम बाहले, डीसी साहिब, राजन बाहला की हाजिऱी में गाँव निवासियों को और झुग्गी  झोपडिय़ों में रहने वालों को दवाइयां दीं गई। इसी तरह ही गाँव चोहका में कमल सिंह, रमदासपुर और रूपोवाल में हरलीन हरजस, बीर सिंह, गाँव तलवंडी जट्टां में सरपंच मनजोत सिंह तलवंडी, गाँव मस्तीवाल में सरपंच साहिब, बलवीर सिंह, रिंकू भटोआ, नमी बस्ती में सुखा, गुरनाम, शिव दास, बख्शी राम, साबी अटवाल, सहजोवाल में राजू, गोलू, काला, चमन लाल, गाँव मूसा के सरपंच नरेश पाल, शमशेर सिंह, गाँव पंडोरी अटवाल में नंबरदार हरी सिंह, नवी अटवाल, बाज़ीगर बस्ती में गाँव के सरपंच गज्जण सिंह, गाँव शेखां में नंबरदार दर्शन सिंह, बलवीर सिंह का नेतृत्व में मुफ़्त दवाएँ दीं गई। इसी तरह गाँव कालरा में डा. सुखदेव शर्मा, अनिल शर्मा, अमित शर्मा गाँव मांगा में दीप बरियाणा, गाँव डफ्फर में गुरप्रीत सिंह सहोता, राजपुर में ललित राणा, लिट्टां व रजपालमां में यादवीर लिट , गाँव बांडा में गोपी जस्सड़ और सरपंच गोल्डी जस्सड़, टुंड के सरपंच मास्टर चंचल, केसोपुर के सरपंच और गाँव बराला में भी दवाओं का लंगर लगाया गया। इस दौरान लोगों को सेहत संभाल के प्रति जागरूक भी किया गया। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में भी यह सेवा निरंतर जारी रहेगी। 


ਸਿੱਖਿਆ ਵਿਭਾਗ ਵਲੋਂ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰਾਂ ਤੇ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲਾਂ ਦੀਆਂ ਬਦਲੀਆਂ
ਬਲਜੀਤ ਕੌਰ  ਫਰੀਦਕੋਟ ਤੇ ਸੁਰਜੀਤ ਸਿੰਘ ਹੋਣਗੇ ਮਾਨਸਾ ਦੇ ਨਵੇਂ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ


ਸ੍ਰੀ ਮੁਕਤਸਰ ਸਾਹਿਬ, 15 ਅਪਰੈਲ
ਪੰਜਾਬ ਸਰਕਾਰ ਵੱਲੋਂ ਨਵੇਂ ਸੈਸ਼ਨ ਦੇ ਮੱਦੇਨਜ਼ਰ ਵੱਡੀ ਪੱਧਰ 'ਤੇ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰਾਂ ਤੇ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲਾਂ ਦੀਆਂ ਬਦਲੀਆਂ ਕੀਤੀਆਂ ਗਈਆਂ ਹਨ, ਜਿਸ ਤਹਿਤ ਸੁਰਜੀਤ ਸਿੰਘ ਮਾਨਸਾ ਦੇ ਨਵੇਂ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ(ਸੈ:ਸਿ) ਹੋਣਗੇ।ਮਾਨਸਾ ਵਿਖੇ ਲਗਾਏ ਗਏ ਸਿੱਖਿਆ ਅਧਿਕਾਰੀ ਗੁਆਂਢੀ ਜ਼ਿਲ੍ਹੇ ਬਠਿੰਡਾ ਦੇ ਸਰਕਾਰੀ ਸੈਕੰਡਰੀ ਸਕੂਲ ਕੋਟਸ਼ਮੀਰ ਵਿਖੇ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਵਜੋਂ ਤਾਇਨਾਤ ਸਨ।


ਸਕੂਲ ਸਿੱਖਿਆ ਵਿਭਾਗ ਦੇ ਸਕੱਤਰ ਕ੍ਰਿਸ਼ਨ ਕੁਮਾਰ ਵੱਲੋਂ ਜਾਰੀ ਕੀਤੇ ਪੱਤਰ ਨੰ: 1/35/2019-3ਸਿਪ(ਪੀਐਫ-7)/1639-44,ਮਿਤੀ:13.4.2020 ਰਾਹੀਂ ਮਲਕੀਤ ਸਿੰਘ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ ਮੁਕਤਸਰ ਨੂੰ ਸੰਗਰੂਰ,ਡਾ.ਪ੍ਰਭਸਿਮਰਨ ਕੌਰ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਐ:ਸਿ) ਸੰਗਰੂਰ,ਕਮਲਜੀਤ ਸਿੰਘ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ(ਐ:ਸਿ) ਤਰਨਤਾਰਨ ਨੂੰ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ ਅੰਮ੍ਰਿਤਸਰ, ਵਰਿੰਦਰ ਕੁਮਾਰ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ,ਸਸਸਸ ਨਾਜੋ ਚੱਕ,ਪਠਾਨਕੋਟ ਤੋਂ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਐ:ਸਿ) ਤਰਨਤਾਰਨ, ਸਤਿੰਦਰਵੀਰ ਸਿੰਘ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ(ਐ:ਸਿ) ਫਾਜ਼ਿਲਕਾ ਨੂੰ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਸੈ:ਸਿ) ਅੰਮ੍ਰਿਤਸਰ, ਜ਼ਸਵਿੰਦਰ ਕੌਰ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਸਸਸਸ ਰੱਛੀ (ਲੁਧਿਆਣਾ) ਨੂੰ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਸੈ:ਸਿ) ਸ੍ਰੀ ਮੁਕਤਸਰ ਸਾਹਿਬ,ਅਮਰਜੀਤ ਸਿੰਘ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਸਸਸਸ ਬੱਟਰ (ਗੁਰਦਾਸਪੁਰ) ਤੋਂ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਐ:ਸਿ)ਫਿਰੋਜ਼ਪੁਰ,ਤਰਲੋਚਨ ਸਿੰਘ ਸਿੱਧੂ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਸਸਸਸ ਪੱਤਰੇਵਾਲਾ (ਫਾਜ਼ਿਲਕਾ) ਨੂੰ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਸੈ:ਸਿ) ਫਾਜ਼ਿਲਕਾ,ਬਲਦੇਵ ਰਾਜ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਸਸਸਸ ਧਾਰ ਕਲਾਂ (ਪਠਾਨਕੋਟ) ਨੂੰ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਸੈ:ਸਿ) ਹੁਸ਼ਿਆਰਪੁਰ,ਹਰਿੰਦਰ ਕੌਰ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਸਸਸਸ ਪੁਰਾਣੀ ਪੁਲੀਸ ਲਾਈਨ (ਪਟਿਆਲਾ) ਤੋਂ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਸੈ:ਸਿ) ਪਟਿਆਲਾ,ਜਰਨੈਲ ਸਿੰਘ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਸਸਸਸ ਵਡਾਲਾ (ਜਲੰਧਰ) ਤੋਂ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਐ:ਸਿ) ਰੂਪ ਨਗਰ,ਬਲਜੀਤ ਕੌਰ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਸਸਸਸ ਕੰਨਿਆਂ ਬਸਤੀ ਸੇਖ਼(ਜਲੰਧਰ) ਨੂੰ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਸੈ:ਸਿ) ਫਰੀਦਕੋਟ, ਸੁਖਵੀਰ ਸਿੰਘ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਸਸਸਸ ਗਹਿਰੀ ਦੇਵੀ ਨਗਰ (ਬਠਿੰਡਾ) ਨੂੰ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਸੈ:ਸਿ) ਬਠਿੰਡਾ,ਸੁਸ਼ੀਲ ਕੁਮਾਰ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਸਸਸਸ ਸੁਧਾਰ (ਅੰਮ੍ਰਿਤਸਰ) ਨੂੰ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਸੈ:ਸਿ) ਨਵਾਂ ਸ਼ਹਿਰ,ਬਰਜਿੰਦਰਪਾਲ ਸਿੰਘ ਉਪ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਐ:ਸਿ) ਸੰਗਰੂਰ ਨੂੰ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਸਸਸਸ ਰਾਇਸਰ (ਬਰਨਾਲਾ), ਰਾਜਪਾਲ ਕੌਰ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਸਸਸਸ ਸ਼ਮਸਪੁਰ (ਫਤਿਹਗੜ੍ਹ ਸਾਹਿਬ) ਨੂੰ ਉਪ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਐ:ਸਿ) ਸੰਗਰੂਰ, ਰਸ਼ਮੀ ਪੂਰੀ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਸਸਸਸ ਪਨਾਮ (ਹੁਸ਼ਿਆਰਪੁਰ) ਨੂੰ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਸਸਸਸ ਬੇਲਾ (ਰੂਪ ਨਗਰ) ਨੂੰ ਲਾਇਆ ਗਿਆ ਹੈ।
ਇਸੇ ਦੌਰਾਨ ਸਕੱਤਰ ਕ੍ਰਿਸ਼ਨ ਕੁਮਾਰ ਵੱਲੋਂ ਜਾਰੀ ਕੀਤੇ ਪੱਤਰ ਨੰ: 1/35/2019-3ਸਿਪ(ਪੀਐਫ-7)/1645-50, ਮਿਤੀ: 13.4.2020 ਰਾਹੀਂ  86 ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲਾਂ ਨੂੰ ਇੱਧਰੋ-ਉਧਰ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਹੈ। ਇਸ ਪੱਤਰ ਮੁਤਾਬਕ ਜ਼ਿਨ੍ਹਾਂ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਦੀ ਬਦਲੀ ਉਪਰੰਤ ਪਿਛਲੇ ਸਟੇਸ਼ਨ 'ਤੇ ਕੋਈ ਰੈਗੂਲਰ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਨਹੀਂ ਹੈ, ਉਨ੍ਹਾਂ ਸਕੂਲਾਂ ਵਿੱਚ ਉਹ ਹਫ਼ਤੇ ਦੇ ਆਖ਼ਰੀਲੇ ਤਿੰਨ ਦਿਨ ਨੂੰ ਜਾਣਗੇ ਅਤੇ ਨਵੀਂ ਤਾਇਨਾਤੀ ਵਾਲੀ ਥਾਂ 'ਤੇ ਹਫ਼ਤੇ ਦੇ ਪਹਿਲੇ ਤਿੰਨ ਦਿਨਾਂ ਨੂੰ ਜਾਣਗੇ।
ਸਿੱਖਿਆ ਵਿਭਾਗ ਮੀਡੀਆ ਕੋਆਰਡੀਨੇਟਰ ਹਰਦੀਪ ਸਿੱਧੂ ਅਤੇ ਰਾਜੇਸ਼ ਬੁਢਲਾਡਾ ਨੇ ਪੱਤਰ ਅਨੁਸਾਰ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਜਿੰਨ੍ਹਾਂ ਸਟੇਸ਼ਨਾਂ ਤੇ ਰੈਗੂਲਰ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਨਹੀ ਆਉਣਗੇ,ਉਸ ਸਮੇਂ ਤੱਕ ਉਨ੍ਹਾਂ ਸਕੂਲਾਂ ਦਾ ਵਾਧੂ ਚਾਰਜ ਪੁਰਾਣੇ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲਾਂ ਕੋਲ ਹੀ ਰਹੇਗਾ।

राज्य के 10 रैज़ीडैंशियल मैरीटोरियस स्कूलों में उपलब्ध हैं 8346 बिस्तर-विजय इंदर सिंगलाशिक्षा एवं लोक निर्माण विभाग द्वारा कोरोनावायरस पर काबू पाने के लिए दिया जाएगा पूरा सहयोग-सिंगला

संगरूर/चंडीगढ़, 15 अप्रैल:
शिक्षा मंत्री पंजाब श्री विजय इंदर सिंगला ने कहा कि कोरोनावायरस को फैलने से रोकने और इससे प्रभावित मरीज़ों की उपयुक्त देख-रेख करने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा जि़ला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को पूरा सहयोग दिया जाएगा। कैबिनेट मंत्री ने बताया कि सभी सरकारी स्कूलों को क्वारंटाइन सैंटरों के तौर पर बरतने के साथ-साथ शिक्षा विभाग द्वारा पंजाब के सभी मैरीटोरियस स्कूलों को सम्बन्धित डिप्टी कमिश्नरों के हवाले कर दिया गया है, जिससे इनमें कोविड केयर आइसोलेशन सैंटर स्थापित किए जा सकें। आज मैरीटोरियस स्कूल घाबदां (संगरूर) में बनाए जा रहे कोविड केयर आइसोलेशन सैंटर का दौरा करने के मौके पर श्री विजय इंदर सिंगला ने बताया कि पंजाब में 10 रैज़ीडैंशियल स्कूल मौजूद हैं और इन स्कूलों के होस्टलों में 8346 बिस्तर उपलब्ध हैं जो कोरोनावायरस से प्रभावित मरीज़ों की देख-रेख के लिए इस्तेमाल किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही इन स्कूलों में लगभग 200 कक्षाएं भी मौजूद हैं जिनको मैडीकल स्टाफ द्वारा अन्य ज़रूरतों के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।
श्री विजय इंदर सिंगला ने बताया कि मैरीटोरियस स्कूल अमृतसर, बठिंडा, फिऱोज़पुर, गुरदासपुर, जालंधर, लुधियाना, पटियाला, संगरूर, मोहाली और होशियारपुर जिलों में स्थित हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व में पंजाब सरकार द्वारा कोरोनावायरस के कारण पैदा हुई इस मुश्किल घड़ी में भी लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए हर संभव कोशिशें की जा रही हैं। उन्होंने लोगों से अपील की कि कोरोनावायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के संपर्क में आने से फैलता है और इससे बचने के लिए लोगों को घरों में ही रहने को ही प्राथमिकता देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कोविड केयर आइसोलेशन सेंटरों की स्थापति से इस वायरस से प्रभावित व्यक्तियों को अलग रखकर वायरस को आगे फैलने से रोकने में मदद मिलेगी।
श्री सिंगला, जो कि लोक निर्माण विभाग के मंत्री हैं, ने बताया कि उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारी को भी सम्बन्धित जि़ला प्रशासन के साथ संपर्क रखने की हिदायत की है जिससे मैरीटोरियस स्कूल में इन केंद्रों के निर्माण के समय में किसी भी ज़रूरत को तुरंत पूरा किया जा सके।

अब तक संदिग्ध मामलों की संख्या 4844
जांच के लिए भेजे गए नमूनों की संख्या 4844
अब तक पोज़ेटिव पाए गए मरीज़ों की संख्या 184
नैगेटिव पाये गए मरीज़ों की संख्या              4047
रिपोर्ट का इन्तज़ार है 613
ठीक हुए मरीज़ों की संख्या 27
सक्रिय मामले 144
मरीज़ों की संख्या जो कि ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं 04
आईसीयू में भर्ती मरीज़ों की संख्या 00
मरीज़ जिनकी स्थिति गंभीर है और वैंटिलेटर पर हैं 01
कुल मौतें 13
एसएएस नगर 56
जालंधर 25
पठानकोट 22
एसबीएस नगर 19
अमृतसर  11
लुधियाना 11
मानसा 11

होशियारपुर 07
मोगा 04
फऱीदकोट 03
रोपड़ 03
बरनाला 02
फतेहगढ़ साहिब 02
कपूरथला 02
पटियाला 02
संगरूर 02
मुक्तसर 01
गुरदासपुर 01
योग: 184

ਖਰੀਦ ਕਾਰਜਾਂ ਦੀ ਜਾਣਕਾਰੀ ਲੈਣ ਅਤੇ ਕਰਫਿੳੂ ਬੰਦਸ਼ਾਂ ਕਾਰਨ -ਪਾਸ ਦੀ ਸੁਵਿਧਾ ਵਾਸਤੇ ਕਿਸਾਨਾਂ ਨੂੰ  epmb ਮੋਬਾਈਲ ਐਪ’ ਡਾੳੂਨਲੋਡ ਕਰਨ ਲਈ ਆਖਿਆ
ਕਿਸਾਨਾਂ ਦੀ ਫਸਲ ਦਾ ਇਕ-ਇਕ ਦਾਣਾ ਖਰੀਦਣ ਲਈ ਵਚਨਬੱਧਤਾ ਦੁਹਰਾਈ
ਚੰਡੀਗੜ, 13 ਅਪ੍ਰੈਲ
                ਸੂਬੇ ਵਿੱਚ 15 ਅਪ੍ਰੈਲ ਤੋਂ ਸ਼ੁਰੂ ਹੋ ਰਹੇ ਹਾੜੀ ਦੇ ਖਰੀਦ ਸੀਜ਼ਨ ਦੌਰਾਨ ਕਿਸਾਨਾਂ ਅਤੇ ਆੜਤੀਆਂ ਦੀ ਸਹੂਲਤ ਲਈ ਮੰਡੀ ਬੋਰਡ ਦੇ ਚੇਅਰਮੈਨ ਲਾਲ ਸਿੰਘ ਨੇ ਬੋਰਡ ਦੇ ਹੈੱਡਕੁਆਰਟਰ ਵਿਖੇ ਸਥਾਪਤ ਕੀਤੇ ਸਟੇਟ ਕੰਟਰੋਲ ਰੂਮ ਵਿੱਚ ਸਾਰੇ 22 ਜ਼ਿਲਿਆਂ ਲਈ ਸੰਪਰਕ ਨੰਬਰ ਜਾਰੀ ਕੀਤੇ ਹਨ ਤਾਂ ਕਿ ਕੋਵਿਡ-19 ਦੇ ਮੱਦੇਨਜ਼ਰ ਖਰੀਦ ਕਾਰਜਾਂ ਦੌਰਾਨ ਕਿਸਾਨਾਂ ਅਤੇ ਆੜਤੀਆਂ ਦੇ ਮਸਲਿਆਂ ਦਾ ਫੌਰੀ ਹੱਲ ਕੱਢਿਆ ਜਾ ਸਕੇ
                 ਦੀ ਫਸਲ ਦਾ ਇਕ-ਇਕ ਦਾਣਾ ਖਰੀਦਣ ਲਈ ਕੈਪਟਨ ਅਮਰਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਸਰਕਾਰ ਦੀ ਦਿ੍ਰੜ ਵਚਨਬੱਧਤਾ ਨੂੰ ਦੁਹਰਾਉਂਦਿਆਂ ਲਾਲ ਸਿੰਘ ਨੇ ਕਿਹਾ ਕਿ ਸਮਾਜਿਕ ਦੂਰੀ ਅਤੇ ਸਿਹਤ ਸੁਰੱਖਿਆ ਉਪਾਵਾਂ ਦੀ ਪਾਲਣਾ ਯਕੀਨੀ ਬਣਾਈ ਜਾਵੇਗੀ ਤਾਂ ਕਿ ਕਰੋਨਾਵਾਇਰਸ ਦੇ ਫੈਲਾਅ ਨੂੰ ਰੋਕਿਆ ਜਾ ਸਕੇ ਉਨਾਂ ਕਿਹਾ ਕਿ ਇਸ ਸਬੰਧੀ ਲੋੜੀਂਦੇ ਪ੍ਰਬੰਧ ਕੀਤੇ ਜਾ ਚੁੱਕੇ ਹਨ ਅਤੇ ਸਬੰਧਤ ਅਧਿਕਾਰੀਆਂ ਨੂੰ ਹਦਾਇਤਾਂ ਵੀ ਜਾਰੀ ਕਰ ਦਿੱਤੀਆਂ ਹਨ
ਕਿਸਾਨਾਂ
                ਮੰਡੀ ਬੋਰਡ ਦੇ ਇਕ ਬੁਲਾਰੇ ਨੇ ਅੱਜ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਚੇਅਰਮੈਨ ਨੇ ਕਿਸਾਨਾਂ ਨੂੰ ਮੰਡੀ ਬੋਰਡ ਦੀ  epmb ਮੋਬਾਈਲ ਐਪ’ ਡਾੳੂਨਲੋਡ ਕਰਨ ਲਈ ਆਖਿਆ ਹੈ ਤਾਂ ਕਿ ਮੰਡੀਆਂ ਦੀਆਂ ਗਤੀਵਿਧੀਆਂ ਦੇ ਨਾਲ-ਨਾਲ ਕਣਕ ਵੇਚਣ ਲਈ -ਪਾਸ ਬਾਰੇ ਤਾਜ਼ਾ ਜਾਣਕਾਰੀ ਮਿਲਦੀ ਰਹੇ ਉਨਾਂ ਕਿਹਾ ਕਿ ਇਹ ਐਪ ਪਹਿਲਾਂ ਹੀ ਲਾਂਚ ਕੀਤੀ ਜਾ ਚੁੱਕੀ ਹੈ ਜਿਸ ਨਾਲ ਕੋਵਿਡ-19 ਦੀ ਭਿਆਨਕ ਬਿਮਾਰੀ ਦੇ ਮੱਦੇਨਜ਼ਰ ਕਣਕ ਦੀ ਖਰੀਦ ਲਈ ਸਾਰੇ ਭਾਈਵਾਲਾਂ ਨੂੰ ਬਹੁਤ ਲਾਭ ਹੋਵੇਗਾ
                ਖਰੀਦ ਲਈ ਪ੍ਰਿਆ ਦਾ ਜ਼ਿਕਰ ਕਰਦਿਆਂ ਬੁਲਾਰੇ ਨੇ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਕਿਸਾਨਾਂ ਅਤੇ ਆੜਤੀਆਂ ਨੂੰ ਖਰੀਦ ਨਾਲ ਸਬੰਧਤ ਕਿਸੇ ਵੀ ਮਸਲੇ ’ਤੇ ਪਹਿਲਾਂ ਸਬੰਧਤ ਮਾਰਕੀਟ ਕਮੇਟੀ ਦੇ ਸਕੱਤਰ ਨਾਲ ਤਾਲਮੇਲ ਕਰਨਾ ਚਾਹੀਦਾ ਹੈ ਅਤੇ ਜੇਕਰ ਮਸਲਾ ਹੱਲ ਨਹੀਂ ਹੁੰਦਾ ਹਾਂ ਉਹ ਆਪੋ-ਆਪਣੇ ਜ਼ਿਲੇ ਦੇ ਕੰਟਰੋਲ ਰੂਮ ’ਤੇ ਰਾਬਤਾ ਕਾਇਮ ਕਰ ਸਕਦੇ ਹਨ

                ਬੁਲਾਰੇ ਨੇ ਅੱਗੇ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਇਸ ਉਦੇਸ਼ ਲਈ ਮੰਡੀ ਬੋਰਡ ਨੇ ਇਕ -ਮੇਲ wheat.proc2020.ctrl@punjab.gov.in ਵੀ ਬਣਾਈ ਹੈ ਅਤੇ ਇਸ -ਮੇਲ ਜ਼ਰੀਏ ਵੀ ਸ਼ਿਕਾਇਤ ਦਰਜ ਕਰਵਾਈ ਜਾ ਸਕਦੀ ਹੈ
                ਕੰਟਰੋਲ ਰੂਮ ਬਾਰੇ ਵਿਸਥਾਰ ਵਿੱਚ ਜਾਣਕਾਰੀ ਦਿੰਦਿਆਂ ਬੁਲਾਰੇ ਨੇ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਸਟੇਟ ਕੰਟਰੋਲ ਰੂਮ ’ਤੇ ਸਾਰੇ ਜ਼ਿਲਿਆਂ ਲਈ ਸੰਪਰਕ ਨੰਬਰ ਜਾਰੀ ਕੀਤੇ ਗਏ ਹਨ ਜਿੱਥੇ ਮੰਡੀ ਬੋਰਡ ਦੀਆਂ ਟੀਮਾਂ ਨੂੰ ਖਰੀਦ ਕਾਰਜਾਂ ਨਾਲ ਸਬੰਧਤ ਸ਼ਿਕਾਇਤਾਂ ਸੁਣਨ ਲਈ ਤਾਇਨਾਤ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਹੈ ਅੰਮਿ੍ਰਤਸਰ ਜ਼ਿਲੇ ਦੇ ਕਿਸਾਨ ਅਤੇ ਆੜਤੀਏ 0172-5101647 ’ਤੇ ਸੰਪਰਕ ਕਾਇਮ ਕਰ ਸਕਦੇ ਹਨ ਇਸੇ ਤਰਾਂ ਬਰਨਾਲਾ (0172-5101673), ਬਠਿੰਡਾ (0172-5101668), ਫਰੀਦਕੋਟ (0172-5101694), ਫਤਹਿਗੜ ਸਾਹਿਬ (0172-5101665) ਅਤੇ ਫਾਜ਼ਿਲਕਾ (0172-5101650) ’ਤੇ ਸੰਪਰਕ ਕਰ ਸਕਦੇ ਹਨ ਫਿਰੋਜ਼ਪੁਰ (0172-5101609), ਗੁਰਦਾਸਪੁਰ (0172-5101619), ਹੁਸ਼ਿਆਰਪੁਰ (0172-5101605), ਜਲੰਧਰ (0172-5101682), ਕਪੂਰਥਲਾ (0172-5101620), ਲੁਧਿਆਣਾ (0172-5101629) ਅਤੇ ਮਾਨਸਾ (0172-5101648) ’ਤੇ ਰਾਬਤਾ ਕਾਇਮ ਕਰ ਸਕਦੇ ਹਨ
ਇਸੇ ਤਰਾਂ ਮੋਗਾ ਦੇ ਕਿਸਾਨ ਅਤੇ ਆੜਤੀਏ ਕੰਟਰੋਲ ਰੂਮ ਨਾਲ 0172-5101700 ’ਤੇ ਸੰਪਰਕ ਕਰ ਸਕਦੇ ਹਨਮੁਹਾਲੀ (0172-5101641), ਪਠਾਨਕੋਟ (0172-5101651), ਪਟਿਆਲਾ (0172-5101652), ਰੋਪੜ (0172-5101646), ਸੰਗਰੂਰ (0172-5101692) ‘ਤੇ ਸੰਪਰਕ ਕਰ ਸਕਦੇ ਹਨ ਇਸੇ ਤਰਾਂ ਐਸ.ਬੀ.ਐਸ.  ਨਗਰ (0172-5101649), ਸ੍ਰੀ ਮੁਕਤਸਰ ਸਾਹਿਬ (0172-5101659) ਅਤੇ ਤਰਨਤਾਰਨ (172-5101643) ’ਤੇ ਰਾਬਤਾ ਕਰ ਸਕਦੇ ਹਨ

bttnews

{picture#https://1.bp.blogspot.com/-pWIjABmZ2eY/YQAE-l-tgqI/AAAAAAAAJpI/bkcBvxgyMoQDtl4fpBeK3YcGmDhRgWflwCLcBGAsYHQ/s971/bttlogo.jpg} BASED ON TRUTH TELECAST {facebook#https://www.facebook.com/bttnewsonline/} {twitter#https://twitter.com/bttnewsonline} {youtube#https://www.youtube.com/c/BttNews} {linkedin#https://www.linkedin.com/company/bttnews}
Powered by Blogger.