[post ads]



मुक्‍तसर

यहां के गोनियाना बाईपास के निकट एक गली में रहने वाले ट्रक चालक की करीब छह साल की बेटी के खेलते ,खेलते अचानक गुम हो जाने के बाद मोहल्‍ले में हड़कंप मच गया। 


करीब डेढ़ घंटे तक खुशी नामक उक्‍त बच्‍ची की तलाश की जाती रही तथा इस दौरान पुलिस तक को सूचना दे दी गई, लेकिन बाद में पता चला कि बच्‍ची को कौई और नहीं बल्कि खुद उसका पिता ही अपने साथ ट्रक में बिठाकर ले गया था। बच्‍ची के सकुशल मिलने के बाद कहीं जाकर परिजनों के साथ पुलिस प्रशासन ने भी राहत की सांस ली।


शिक्षा मंत्री ने जिला शिक्षा अधिकारियों के साथ की मीटिंग

चंडीगढ़, 26 दिसम्बर:
शिक्षा मंत्री श्री ओ.पी. सोनी ने आज पंजाब भर के जिला शिक्षा अधिकारियों (डी.ई.योज़) के साथ मुलाकात की और कहा कि अगर इस वर्ष स्कूलों के नतीजे बुरे आए तो डी.ई.ओज़. और प्रिंसिपल जि़म्मेदार होंगे। उन्होंने साथ ही कहा कि जिन स्कूलों की इमारतें असुरक्षित हैं, उनकी सूची भेजी जाये। एक साल में सभी स्कूलों की इमारतें नयी बनाईं जाएंगी।


शिक्षा मंत्री ने डी.ई.ओज़. को प्रोत्साहित किया कि वह अच्छे नतीजों के लिए आप जाकर स्कूलों की जांच करें और अध्यापकों और अन्य स्टाफ का समय पर स्कूलों में पहुँचना यकीनी बनाऐं।
उन्होंने कहा कि कई स्कूलों में अध्यापकों और अन्य मुलाजिमों के खाली पड़े पदों का मुद्दा ध्यान में आने पर श्री सोनी ने आदेश दिया कि बनती तरक्कियाँ और रैशनेलाईज़ेशन के साथ यह पद भरे जाएं। दर्जा चार और अन्य मुलाजिमों का प्रबंध डी.ई.ओज़ को अपने स्तर पर करने के लिए कहा गया।
दर्जा चार और अन्य मुलाजिमों का प्रबंध डी.ई.ओज़ को अपने स्तर पर करने के लिए कहा गया। उन्होंने कहा कि परीक्षा केंद्र बनाते समय इस बात का ध्यान रखा जाये कि किसी विद्यार्थी को तीन किलोमीटर से अधिक दूर न जाना पड़े। जिला शिक्षा अधिकारियों की अन्य माँगों पर शिक्षा मंत्री ने पाँच डी.ई.ओज़. पर आधारित एक समिति बनाने के लिए कहा, जो उनकी समस्याओं का निपटारा निचले स्तर पर ही करेगी।
इस मौके पर डी.जी.एस.ई. प्रशांत कुमार गोयल, डी.पी.आई. (सैकेंडरी) सुखजीतपाल सिंह, डी.पी.आई. (एलिमेंट्री) इन्द्रजीत सिंह और शिक्षा मंत्री के ओ.एस.डी. डी.एस. सरोआ उपस्थित थे।
-----------------

अकाली दल हमेशा 1984 के सिख हत्याकांड के पीडि़तों के साथ खड़ेगा
नई दिल्ली, 26 दिसंबर
शिरोमणी अकाली दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के महा सचिव श्री मनजिन्दर सिंह सिरसा ने कहा है कि 1984 दौरान गांधी परिवार का नेतृत्व वाली कांग्रेस पार्टी नेहत्याकांड करने के लिए आतंकवादियों की ड्यूटी लगाई थी और इस हत्याकांड को सिख भाईचारे में नस्लकुशी में बदलने के लिए हिदायत की थी और सिख भाईचारे में इस परिवार के खिलाफ गुस्सा सदा ही रहेगा।


यहां जारी किए एक बयान में श्री सिरसा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी का मकसद सिखों में दहशत फैला और हर सिख को मार देना थी जिस के लिए इसने वह व्यक्ति ड्यूटी पर लगाए थे जो आतंकवादियों कीअपेक्षा कम नहीं थे। उन्होंने कहा कि पिछले 34 सालों के दौरान यह पार्टी दुनियां की सब से भयानक नस्लकुशी के दोषियों को हर पक्ष से बचाती रही और अदालतें भी गांधी परिवार और उन का नेतृत्व वालीकांग्रेस पार्टी की तरफ से दी गई राजनैतिक सरप्रस्ती कारण दोषियों को सजाएं देने में लाचार रही।


उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में राजीव गांधी के नाम और लुधियाना में इसके बुत का मुंह काला करने की कार्यवाई को पीडि़तों की भावनाओं का ख्याल रखते किसी भी तरीके निंदा नहीं कहा जा सकता।उन्होंने कहा कि यह भी परमात्मा का शुक्रिया है कि इन परिवारों ने सिर्फ राजीव गांधी का मुंह ही काला किया है और राष्ट्रीय राजधानी और अन्य शहरों में हजारों मासूम सिखों के हत्याकांड का बदला लेनेके लिए हथियार नहीं उठाए।
उन्होंने कहा कि हैरानी वाली बात यह है कि शिरोमणी अकाली दल की तरफ से इन पीडि़तों की हिमायत करने का शोर मचा रही है जबकि आप भूल गई है कि उसने 1984 के कातिलों को बचाया उन्होंनेकहा कि हम कहा कि हम पीडि़तों की हिमायत करते रहेंगे क्योंकि उन का गुस्सा हर पक्ष से वाजिब है। उन्होंने कांग्रेस को सवाल किया कि जब यह अब तक कातिलों को बचाती रही है तो फिर वह अकालीदल की तरफ से पीडि़तों की हिमायत  करन की बात कैसे सोच सकती है।


 उन्होंने देश के लोगों को अपनी बात कहने पर भावनाएं प्रकट करने की पूरी आजादी है और कोई भी इन को ऐसा करने से नहीं रोकसकता।
श्री सिरसा ने कहा कि पहले दिन से ही शिरोमणी अकाली दल पीडि़तों और इन के परिवारों के साथ खड़ा रहा है और हमेशा रहेगा। उन्होंने कहा कि यदि कातिलों को बचाना वाजिब है तो फिर पीडि़तपरिवारों की तरफ से कार्यवाई की भी किसी तरीके निंदा नहीं की जा सकती।
उन्होंने कहा कि 1984 की सिख नस्लकुशी के मामलों को इन के नतीजे तक लाने में 34 साल लग गए और अब जा कर सज्जण कुमार और दो दूसरे को सजाएं मिलीं हैं उन्होंने कहा कि दूसरे मामलों में भीअकाली दल पीडि़तों को न्याय मिलना और दोषियों को सलाखों के पीछे पहुंचाना यकीनी बनाऐगा।
उन्होंने कहा कि लोग अब समझ रहे हैं कि इसके सीनियर पार्टी नेताओं को सजाएं मिलने कारण ही कांग्रेस घबराहट में है परन्तु वह दिन दूर नहीं जब गांधियों का नाम और उन की भूमिका कानूनी तौर परसामने आएगी और उन को दुनियां को हैरान करने वाले इस हत्याकांड के लिए आतंकवादी तैनात करने की सजा मिलेगी और वह सलाखों के पीछे होंगे।


bttnews

{picture#https://1.bp.blogspot.com/-pWIjABmZ2eY/YQAE-l-tgqI/AAAAAAAAJpI/bkcBvxgyMoQDtl4fpBeK3YcGmDhRgWflwCLcBGAsYHQ/s971/bttlogo.jpg} BASED ON TRUTH TELECAST {facebook#https://www.facebook.com/bttnewsonline/} {twitter#https://twitter.com/bttnewsonline} {youtube#https://www.youtube.com/c/BttNews} {linkedin#https://www.linkedin.com/company/bttnews}
Powered by Blogger.