Page Nav

Grid

GRID_STYLE

Grid

GRID_STYLE

Hover Effects

Classic Header

{fbt_classic_header}

 ਬੀਟੀਟੀ ਨਿਊਜ਼ 'ਤੇ ਤੁਹਾਡਾ ਹਾਰਦਿਕ ਸਵਾਗਤ ਹੈ, ਅਦਾਰਾ BTTNews ਹੈ ਤੁਹਾਡਾ ਆਪਣਾ, ਤੁਸੀ ਕੋਈ ਵੀ ਅਪਣੇ ਇਲਾਕੇ ਦੀਆਂ ਖਬਰਾਂ 'ਤੇ ਇਸ਼ਤਿਹਾਰ ਸਾਨੂੰ ਭੇਜ ਸਕਦੇ ਹੋ, ਵਧੇਰੀ ਜਾਣਕਾਰੀ ਲਈ ਸੰਪਰਕ ਕਰੋ Mobile No.7035100015, WhatsApp - 9582900013 ,ਈਮੇਲ contact-us@bttnews.online

ਤਾਜਾ ਖਬਰਾਂ

latest

 ਬੀਟੀਟੀ ਨਿਊਜ਼ 'ਤੇ ਤੁਹਾਡਾ ਹਾਰਦਿਕ ਸਵਾਗਤ ਹੈ, ਅਦਾਰਾ BTTNews ਹੈ ਤੁਹਾਡਾ ਆਪਣਾ, ਤੁਸੀ ਕੋਈ ਵੀ ਅਪਣੇ ਇਲਾਕੇ ਦੀਆਂ ਖਬਰਾਂ 'ਤੇ ਇਸ਼ਤਿਹਾਰ ਸਾਨੂੰ ਭੇਜ ਸਕਦੇ ਹੋ ਵਧੇਰੀ ਜਾਣਕਾਰੀ ਲਈ ਸੰਪਰਕ ਕਰੋ Mobile No. 7035100015, WhatsApp - 9582900013 ,ਈਮੇਲ contact-us@bttnews.online

फ़तेहगढ़ साहिब से चमकौर साहिब तक माता गुजरी मार्ग बनेगा राष्ट्रीय मार्ग: चरणजीत सिंह चन्नी

  फ़तेहगढ़ साहिब में बनाई जाएगी शहीद भाई संगत सिंह जी की स्मारक: मुख्यमंत्री फ़तेहगढ़ साहिब, 26 दिसंबर: पंजाब के मुख्यमंत्री स. चरणजीत सिंह ...

 फ़तेहगढ़ साहिब में बनाई जाएगी शहीद भाई संगत सिंह जी की स्मारक: मुख्यमंत्री


फ़तेहगढ़ साहिब से चमकौर साहिब तक माता गुजरी मार्ग बनेगा राष्ट्रीय मार्ग: चरणजीत सिंह चन्नी

फ़तेहगढ़ साहिब, 26 दिसंबर:

पंजाब के मुख्यमंत्री स. चरणजीत सिंह चन्नी आज सरबंसदानी साहिब श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी के छोटे साहिबज़ादे, बाबा ज़ोरावर सिंह, बाबा फतेह सिंह और माता गुजरी जी की अतुलनीय शहादत को समर्पित वार्षिक शहीदी सभा के दूसरे दिन आज गुरुद्वारा श्री फ़तेहगढ़ साहिब में नतमस्तक हुए।

इस दौरान पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री स. चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि शहीदों की इस महान धरती, फ़तेहगढ़ साहिब में उस महान शहीद बाबा संगत सिंह जी की स्मारक बनाई जाएगी। उन्होंने बताया कि बाबा संगत सिंह जी को चमकौर साहिब में गुरू गोबिन्द सिंह जी का रूप समझकर शहीद किया गया था और उनकी देह को चमकौर साहिब से यहाँ लाया गया था। उन्होंने कहा कि शहीदों की इस महान धरती का जितना भी सत्कार और मान-सम्मान किया जाए, वह कम है।

मुख्यमंत्री स. चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि श्री चमकौर साहिब, जहाँ से वह विधान सभा में प्रतिनिधित्व करते हैं, वहाँ गुरू साहिब जी के बड़े साहिबज़ादे की शहादत हुई थी और श्री फ़तेहगढ़ साहिब में दशमेश पिता जी के छोटे साहिबज़ादे की शहादत हुई थी, इसलिए इन दोनों स्थानों का आपस में बड़ा गहरा रिश्ता है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि शहीदों को नमन करते हुए पंजाब सरकार ने दोनों स्थानों को आपस में जोड़ते हुए, यहाँ से सरहिन्द वाली जी.टी. रोड से आगे चमकौर साहिब तक होशियारपुर वाली मुख्य सडक़ को आपस में जोड़ते हुए बनाए जाने वाले सर्किट का नाम माता गुजरी जी मार्ग रखा है और इसको राष्ट्रीय मार्ग बनाने के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है।

मुख्यमंत्री स. चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि दशमेश पिता श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी के छोटे साहिबज़ादे और माता गुजरी जी की शहादत बेमिसाल है, और आज वह महान शहीदों को नमन करने और अपनी श्रद्धा भेंट करने आए हैं। उन्होंने कहा कि गुरू साहिब ने मानवता के कल्याण के लिए अपना पूरा परिवार कुर्बान कर दिया, जिसकी दुनिया में कोई अन्य मिसाल नहीं मिलती।

पत्रकारों द्वारा बंदी सिंहों की रिहाई सम्बन्धी पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा कि सरकार ने बंदी सिंहों को रिहा करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है और रिहाई कर दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने इस दौरान पंगत में बैठकर लंगर छका और गुरुद्वारा साहिब के बाहर लगे लंगरों में लंगर छकाने की सेवा भी की।

इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ हलका फ़तेहगढ़ साहिब के विधायक स. कुलजीत सिंह नागरा और विधायक नागरा की पत्नी मनदीप कौर नागरा, जि़ला कांग्रेस प्रधान सुभाष सूद, उपायुक्त पूनमदीप कौर, एस.एस.पी. सन्दीप गोयल, गुरुद्वारा साहिब के प्रबंधक गुरदीप सिंह कंग और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

No comments

Ads Place