Page Nav

Grid

GRID_STYLE

Grid

GRID_STYLE

Hover Effects

Classic Header

{fbt_classic_header}

 ਬੀਟੀਟੀ ਨਿਊਜ਼ 'ਤੇ ਤੁਹਾਡਾ ਹਾਰਦਿਕ ਸਵਾਗਤ ਹੈ, ਅਦਾਰਾ BTTNews ਹੈ ਤੁਹਾਡਾ ਆਪਣਾ, ਤੁਸੀ ਕੋਈ ਵੀ ਅਪਣੇ ਇਲਾਕੇ ਦੀਆਂ ਖਬਰਾਂ 'ਤੇ ਇਸ਼ਤਿਹਾਰ ਸਾਨੂੰ ਭੇਜ ਸਕਦੇ ਹੋ, ਵਧੇਰੀ ਜਾਣਕਾਰੀ ਲਈ ਸੰਪਰਕ ਕਰੋ Mobile No.7035100015, WhatsApp - 9582900013 ,ਈਮੇਲ contact-us@bttnews.online

ਤਾਜਾ ਖਬਰਾਂ

latest

 ਬੀਟੀਟੀ ਨਿਊਜ਼ 'ਤੇ ਤੁਹਾਡਾ ਹਾਰਦਿਕ ਸਵਾਗਤ ਹੈ, ਅਦਾਰਾ BTTNews ਹੈ ਤੁਹਾਡਾ ਆਪਣਾ, ਤੁਸੀ ਕੋਈ ਵੀ ਅਪਣੇ ਇਲਾਕੇ ਦੀਆਂ ਖਬਰਾਂ 'ਤੇ ਇਸ਼ਤਿਹਾਰ ਸਾਨੂੰ ਭੇਜ ਸਕਦੇ ਹੋ ਵਧੇਰੀ ਜਾਣਕਾਰੀ ਲਈ ਸੰਪਰਕ ਕਰੋ Mobile No. 7035100015, WhatsApp - 9582900013 ,ਈਮੇਲ contact-us@bttnews.online

विकास मिशन और टांक कक्षत्रीय सभा द्वारा भारत बंद का समर्थन

 - काले कानून रद्द करने की मांग - श्री मुक्तसर साहिब, 27 सितंबर - शहर व आम लोगों के भले और विकास को समप्रित प्रमुख गैर सरकारी समाज सेवी संस्...

 - काले कानून रद्द करने की मांग -

विकास मिशन और टांक कक्षत्रीय सभा द्वारा भारत बंद का समर्थन


श्री मुक्तसर साहिब, 27 सितंबर - शहर व आम लोगों के भले और विकास को समप्रित प्रमुख गैर सरकारी समाज सेवी संस्था मुक्तसर विकास मिशन और आल इंडिया टांक कक्षत्रीय सभा ने आज भारत बंद को पूर्ण समर्थन दिया। इस संबंधी सांझी समर्थन मीटिंग स्थानीय कोटकपूरा रोड स्थित श्री गुरू गोबिंद सिंह पार्क में की गई। मिशन के सीनियर उप प्रधान निरंजन सिंह रखरा की प्रधानगी में हुई इस मीटिंग में हनी फत्तनवाला, अशोक कुमार भारती, राजीव कटारिया, राजिंदर खुराणा, ओ.पी. खिच्ची, मनोहर लाल, डॉ. सुरिंदर गिरधर, पवन कुमार, सुखमंदर सिंह, गुरपाल पाली, बलजीत सिंह, सचिन कुमार, पलविंदर सिंह बेदी, सुखमंदर सिंह बेदी, प्रीतम सिंह रखरा, बलराज सिंह, जगसीर सिंह और नरिंद्र कुमार आदि शामिल हुए। मीटिंग दौरान किसान अंदोलन के समर्थन और कृषि विरोधी कानूनों के विरोध में जम कर नारेबाजी की। स. रखरा समेत सभी बुलारों ने कहा कि पूरे देश का किसान वर्ग इन काले कानूनों विरूद्ध उठ खड़ा हुआ है और देर सवेर सरकार को यह कानून रद्द करने ही पडेंगें। आगूओं ने केन्द्र सरकार को सख्त शब्दों में चितावनी दी है कि अगर केन्द्र की मौजूदा भाजपा सरकार ने यह काले कानून रद्द न किए तो भविष्य में लोग भाजपा को पूरी तरह रद्द कर देंगे। उधर मिशन प्रधान जगदीश राय ढोसीवाल ने भी संयुक्त किसान मोर्चे द्वारा कृषि विरोधी काले कानूनों को जन मारू बताते हुए इनको तुरंत रद्द करने की मांग की। प्रधान ढोसीवाल ने कहा कि उनकी संस्था आखरी दम तक किसान आंदोलन का समर्थन करती रहेगी।    

No comments

Ads Place